Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2023 · 1 min read

बस का सफर

बस का सफर
जब चलती हुई बस एकाएक रुक जाती है तो यात्री के शरीर का निचला भाग बस के संपर्क में होने के कारण बस के साथ रुक जाता है शरीर का ऊपरी भाग गति के जड़त्व के कारण गति की अवस्था में ही रहता है इसके कारण यात्री को आगे की ओर झटका लगता है

226 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अवसाद
अवसाद
Dr. Rajeev Jain
चलो मनाएं नया साल... मगर किसलिए?
चलो मनाएं नया साल... मगर किसलिए?
Rachana
नारी
नारी
Dr fauzia Naseem shad
मातु शारदे करो कल्याण....
मातु शारदे करो कल्याण....
डॉ.सीमा अग्रवाल
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
वक्त तुम्हारी चाहत में यूं थम सा गया है,
वक्त तुम्हारी चाहत में यूं थम सा गया है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
🥀*अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
चराचर के स्वामी मेरे राम हैं,
चराचर के स्वामी मेरे राम हैं,
Anamika Tiwari 'annpurna '
नदी जिस में कभी तुमने तुम्हारे हाथ धोएं थे
नदी जिस में कभी तुमने तुम्हारे हाथ धोएं थे
Johnny Ahmed 'क़ैस'
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
चंद्रयान 3
चंद्रयान 3
Seema gupta,Alwar
चांदनी रातों में
चांदनी रातों में
Surinder blackpen
ऐसा कभी नही होगा
ऐसा कभी नही होगा
gurudeenverma198
मेरे नयनों में जल है।
मेरे नयनों में जल है।
Kumar Kalhans
★भारतीय किसान★
★भारतीय किसान★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
2519.पूर्णिका
2519.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अधूरा एहसास(कविता)
अधूरा एहसास(कविता)
Monika Yadav (Rachina)
क्रिकेटी हार
क्रिकेटी हार
Sanjay ' शून्य'
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
अदालत में क्रन्तिकारी मदनलाल धींगरा की सिंह-गर्जना
कवि रमेशराज
मनभावन
मनभावन
SHAMA PARVEEN
मुझको तो घर जाना है
मुझको तो घर जाना है
Karuna Goswami
हर एक भाषण में दलीलें लाखों होती है
हर एक भाषण में दलीलें लाखों होती है
कवि दीपक बवेजा
चंद तारे
चंद तारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
फिर पर्दा क्यूँ है?
फिर पर्दा क्यूँ है?
Pratibha Pandey
*अज्ञानी की कलम  *शूल_पर_गीत*
*अज्ञानी की कलम *शूल_पर_गीत*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
शिक्षा
शिक्षा
Adha Deshwal
बादल
बादल
लक्ष्मी सिंह
नारी पुरुष
नारी पुरुष
Neeraj Agarwal
ये दिन है भारत को विश्वगुरु होने का,
ये दिन है भारत को विश्वगुरु होने का,
शिव प्रताप लोधी
वाह भाई वाह
वाह भाई वाह
Dr Mukesh 'Aseemit'
Loading...