Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2024 · 1 min read

प्रेम🕊️

प्रेम🕊️
——
प्रेम इच्छा भी है, प्रेम परीक्षा भी है ..
प्रेम दृष्टि भी है, प्रेम द्रष्टा भी है ..
प्रेम नीड़ भी है, प्रेम निर्वाण भी है ..
प्रेम साहस भी है, प्रेम अनुशासन भी है ..
प्रेम जुनून भी है, प्रेम संयम भी है..
प्रेम परिश्रम भी है, प्रेम भाग्य भी है..
प्रेम में आतुरता भी है, प्रेम में नैतिकता भी है ..
प्रेम ;
पाने-खोने, सुख-दुःख, सफल-असफ़ल से इतर ;
प्रेम स्वयं में पूर्ण है ,दिव्य है ,शाश्वत है … 🙏🙏

1 Like · 72 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
Arvind trivedi
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
पेड़ पौधे फूल तितली सब बनाता कौन है।
सत्य कुमार प्रेमी
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
■ आज का मुक्तक
■ आज का मुक्तक
*Author प्रणय प्रभात*
।। गिरकर उठे ।।
।। गिरकर उठे ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
नव वर्ष हमारे आए हैं
नव वर्ष हमारे आए हैं
Er.Navaneet R Shandily
लैला लैला
लैला लैला
Satish Srijan
2766. *पूर्णिका*
2766. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
In case you are more interested
In case you are more interested
Dhriti Mishra
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
ज़िद से भरी हर मुसीबत का सामना किया है,
Kanchan Alok Malu
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
DrLakshman Jha Parimal
इक चाँद नज़र आया जब रात ने ली करवट
इक चाँद नज़र आया जब रात ने ली करवट
Sarfaraz Ahmed Aasee
दिल के अरमान मायूस पड़े हैं
दिल के अरमान मायूस पड़े हैं
Harminder Kaur
तू ही मेरी चॉकलेट, तू प्यार मेरा विश्वास। तुमसे ही जज्बात का हर रिश्तो का एहसास। तुझसे है हर आरजू तुझ से सारी आस।। सगीर मेरी वो धरती है मैं उसका एहसास।
तू ही मेरी चॉकलेट, तू प्यार मेरा विश्वास। तुमसे ही जज्बात का हर रिश्तो का एहसास। तुझसे है हर आरजू तुझ से सारी आस।। सगीर मेरी वो धरती है मैं उसका एहसास।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
करके ये वादे मुकर जायेंगे
करके ये वादे मुकर जायेंगे
Gouri tiwari
चंचल मन
चंचल मन
उमेश बैरवा
****** धनतेरस लक्ष्मी का उपहार ******
****** धनतेरस लक्ष्मी का उपहार ******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
परीक्षा है सर पर..!
परीक्षा है सर पर..!
भवेश
उल्लाला छंद विधान (चन्द्रमणि छन्द) सउदाहरण
उल्लाला छंद विधान (चन्द्रमणि छन्द) सउदाहरण
Subhash Singhai
जब तक हो तन में प्राण
जब तक हो तन में प्राण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सच समाज में प्रवासी है
सच समाज में प्रवासी है
Dr MusafiR BaithA
एक समय के बाद
एक समय के बाद
हिमांशु Kulshrestha
सावन साजन और सजनी
सावन साजन और सजनी
Ram Krishan Rastogi
बुढ़ापा अति दुखदाई (हास्य कुंडलिया)
बुढ़ापा अति दुखदाई (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
रास्ते
रास्ते
Ritu Asooja
सूर्योदय
सूर्योदय
Madhu Shah
*
*"मुस्कराहट"*
Shashi kala vyas
जन्म दिन
जन्म दिन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
सुस्ता लीजिये - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"वो दिन"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...