Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Mar 2024 · 1 min read

प्रश्न शूल आहत करें,

प्रश्न शूल आहत करें,
मिले न दिल को चैन ।
जीवन की ये गुत्थियाँ,
भ्रमित करें दिन रैन ।।

सुशील सरना 31-3-24

38 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सुबह की चाय मिलाती हैं
सुबह की चाय मिलाती हैं
Neeraj Agarwal
जीवन का रंगमंच
जीवन का रंगमंच
Harish Chandra Pande
प्रेम
प्रेम
Acharya Rama Nand Mandal
"अहसास"
Dr. Kishan tandon kranti
इस ठग को क्या नाम दें
इस ठग को क्या नाम दें
gurudeenverma198
रण प्रतापी
रण प्रतापी
Lokesh Singh
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
Harmony's Messenger: Sauhard Shiromani Sant Shri Saurabh
World News
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
हाथ की लकीरों में फ़क़ीरी लिखी है वो कहते थे हमें
VINOD CHAUHAN
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
Sanjay ' शून्य'
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
#लघुव्यंग्य-
#लघुव्यंग्य-
*Author प्रणय प्रभात*
जागो बहन जगा दे देश 🙏
जागो बहन जगा दे देश 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
आने वाले कल का ना इतना इंतजार करो ,
Neerja Sharma
आँसू छलके आँख से,
आँसू छलके आँख से,
sushil sarna
किस लिए पास चले आए अदा किसकी थी
किस लिए पास चले आए अदा किसकी थी
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
3014.*पूर्णिका*
3014.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
What if...
What if...
R. H. SRIDEVI
*सेब (बाल कविता)*
*सेब (बाल कविता)*
Ravi Prakash
*
*"तुलसी मैया"*
Shashi kala vyas
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
Sukoon
It All Starts With A SMILE
It All Starts With A SMILE
Natasha Stephen
आहत हूॅ
आहत हूॅ
Dinesh Kumar Gangwar
वासुदेव
वासुदेव
Bodhisatva kastooriya
लगाकर मुखौटा चेहरा खुद का छुपाए बैठे हैं
लगाकर मुखौटा चेहरा खुद का छुपाए बैठे हैं
Gouri tiwari
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सत्यमेव जयते
सत्यमेव जयते
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
रमेशराज की गीतिका छंद में ग़ज़लें
रमेशराज की गीतिका छंद में ग़ज़लें
कवि रमेशराज
बना चाँद का उड़न खटोला
बना चाँद का उड़न खटोला
Vedha Singh
हर परिवार है तंग
हर परिवार है तंग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
नवयौवना
नवयौवना
लक्ष्मी सिंह
Loading...