Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jun 2016 · 1 min read

प्रदूषण मुक्त हो भारत सुमन मुस्कान खिल जाए

लगाओ पेड़ धरती पर गगन सी छाँव मिल जाए
यहाँ फिर देख हरियाली हमारा झूम दिल जाए
भँवर भी गुनगुनायें पक्षियों की चहचहाहट हो
प्रदूषण मुक्त हो भारत सुमन मुस्कान खिल जाए

डॉ अर्चना गुप्ता

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
483 Views
You may also like:
हिंसा की आग 🔥
मनोज कर्ण
*शादी के वह सेहरे (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मानुष हूं मैं या हूं कोई दरिंदा
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
★दर्द भरा जीवन तेरा दर्दों से घबराना नहीं★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
तरुवर की शाखाएंँ
Buddha Prakash
वजह क्या हो सकती है
gurudeenverma198
हम भी हैं महफ़िल में।
Taj Mohammad
मैने देखा है
Anamika Singh
बदला नहीं लेना किसीसे, बदल के हमको दिखाना है।
Uday kumar
ऐतबार ।
Anil Mishra Prahari
लेखनी
लक्ष्मी सिंह
पितृपक्ष_विशेष
संजीव शुक्ल 'सचिन'
'बेटियाॅं! किस दुनिया से आती हैं'
Rashmi Sanjay
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
गुरु चरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Er.Navaneet R Shandily
✍️अपना ही सवाल✍️
'अशांत' शेखर
वफ़ा मानते रहे
Dr. Sunita Singh
चेहरे पर कई चेहरे ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मेरे एहसास का
Dr fauzia Naseem shad
themetics of love
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गीता के स्वर (18) संन्यास व त्याग के तत्त्व
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
'भारत की प्रथम नागरिक'
Godambari Negi
🌸🌸व्यवहारस्य सद्य विकासस्य आवश्यकता🌸🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“ गोलू क जन्म दिन “
DrLakshman Jha Parimal
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
संताप
ओनिका सेतिया 'अनु '
स्पर्धा भरी हयात
AMRESH KUMAR VERMA
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
Loading...