Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jan 2023 · 1 min read

#प्यार…

जिंदगी में प्यार से धोखा खाना भी अहम बात है

Language: Hindi
2 Likes · 349 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मां का हृदय
मां का हृदय
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सबसे कठिन है
सबसे कठिन है
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
"महफिल में रौनक की कमी सी है"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
2849.*पूर्णिका*
2849.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अमीर जिन महलों को सपनों का आशियाना कहते हैं,
अमीर जिन महलों को सपनों का आशियाना कहते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तुझे ढूंढने निकली तो, खाली हाथ लौटी मैं।
तुझे ढूंढने निकली तो, खाली हाथ लौटी मैं।
Manisha Manjari
?????
?????
शेखर सिंह
टूटने का मर्म
टूटने का मर्म
Surinder blackpen
*वीरस्य भूषणम् *
*वीरस्य भूषणम् *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अपने आमाल पे
अपने आमाल पे
Dr fauzia Naseem shad
उठ जाग मेरे मानस
उठ जाग मेरे मानस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिंदगी कुछ और है, हम समझे कुछ और ।
जिंदगी कुछ और है, हम समझे कुछ और ।
sushil sarna
वो ठहरे गणित के विद्यार्थी
वो ठहरे गणित के विद्यार्थी
Ranjeet kumar patre
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
तुम देखो या ना देखो, तराजू उसका हर लेन देन पर उठता है ।
तुम देखो या ना देखो, तराजू उसका हर लेन देन पर उठता है ।
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Winner
Winner
Paras Nath Jha
पत्तल
पत्तल
Rituraj shivem verma
वक्त
वक्त
Prachi Verma
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
ढलता सूरज गहराती लालिमा देती यही संदेश
Neerja Sharma
मुक्तक
मुक्तक
डॉक्टर रागिनी
*आई भादों अष्टमी, कृष्ण पक्ष की रात (कुंडलिया)*
*आई भादों अष्टमी, कृष्ण पक्ष की रात (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
है यही मुझसे शिकायत आपकी।
है यही मुझसे शिकायत आपकी।
सत्य कुमार प्रेमी
फसल
फसल
Bodhisatva kastooriya
जिन्दा हो तो,
जिन्दा हो तो,
नेताम आर सी
मैंने बेटी होने का किरदार किया है
मैंने बेटी होने का किरदार किया है
Madhuyanka Raj
कर दो बहाल पुरानी पेंशन
कर दो बहाल पुरानी पेंशन
gurudeenverma198
"अक्सर"
Dr. Kishan tandon kranti
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
मां तुम बहुत याद आती हो
मां तुम बहुत याद आती हो
Mukesh Kumar Sonkar
बीन अधीन फणीश।
बीन अधीन फणीश।
Neelam Sharma
Loading...