Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

पुरानी गली के कुछ इल्ज़ाम है अभी तुम पर,

पुरानी गली के कुछ इल्ज़ाम है अभी तुम पर,
नई गली में शरारत संभाल कर करना

27 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
-- धरती फटेगी जरूर --
-- धरती फटेगी जरूर --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
gurudeenverma198
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
कि  इतनी भीड़ है कि मैं बहुत अकेली हूं ,
कि इतनी भीड़ है कि मैं बहुत अकेली हूं ,
Mamta Rawat
तेज़ाब का असर
तेज़ाब का असर
Atul "Krishn"
*जीता हमने चंद्रमा, खोज चल रही नित्य (कुंडलिया )*
*जीता हमने चंद्रमा, खोज चल रही नित्य (कुंडलिया )*
Ravi Prakash
*ज़िंदगी का सफर*
*ज़िंदगी का सफर*
sudhir kumar
उत्तर नही है
उत्तर नही है
Punam Pande
"बहादुर शाह जफर"
Dr. Kishan tandon kranti
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
3472🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
प्यारा बंधन प्रेम का
प्यारा बंधन प्रेम का
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मैं कहना भी चाहूं उनसे तो कह नहीं सकता
मैं कहना भी चाहूं उनसे तो कह नहीं सकता
Mr.Aksharjeet
भारत के वीर जवान
भारत के वीर जवान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मायूसियों से निकलकर यूँ चलना होगा
मायूसियों से निकलकर यूँ चलना होगा
VINOD CHAUHAN
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
अब मत करो ये Pyar और respect की बातें,
Vishal babu (vishu)
हर इंसान होशियार और समझदार है
हर इंसान होशियार और समझदार है
पूर्वार्थ
अपनी हिंदी
अपनी हिंदी
Dr.Priya Soni Khare
छंद -रामभद्र छंद
छंद -रामभद्र छंद
Sushila joshi
💜सपना हावय मोरो💜
💜सपना हावय मोरो💜
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
😊अनुरोध😊
😊अनुरोध😊
*प्रणय प्रभात*
तन्हाई बिछा के शबिस्तान में
तन्हाई बिछा के शबिस्तान में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कितना रोका था ख़ुद को
कितना रोका था ख़ुद को
हिमांशु Kulshrestha
* शक्ति है सत्य में *
* शक्ति है सत्य में *
surenderpal vaidya
हम उस पीढ़ी के लोग है
हम उस पीढ़ी के लोग है
Indu Singh
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
डॉ.सीमा अग्रवाल
पद्मावती पिक्चर के बहाने
पद्मावती पिक्चर के बहाने
Manju Singh
तू मेरे इश्क की किताब का पहला पन्ना
तू मेरे इश्क की किताब का पहला पन्ना
Shweta Soni
धर्म और विडम्बना
धर्म और विडम्बना
Mahender Singh
जीवन जितना
जीवन जितना
Dr fauzia Naseem shad
जमी से आसमा तक तेरी छांव रहे,
जमी से आसमा तक तेरी छांव रहे,
Anamika Tiwari 'annpurna '
Loading...