Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Sep 2023 · 1 min read

पहले देखें, सोचें,पढ़ें और मनन करें,

पहले देखें, सोचें,पढ़ें और मनन करें,
तब बातें प्रतिक्रिया की होनी चाहिए !
किसी के मन को रखने के लिए ही ,
सारगर्भित को नहीं छोड़ना चाहिए !!
@ परिमल

224 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
सपन सुनहरे आँज कर, दे नयनों को चैन ।
सपन सुनहरे आँज कर, दे नयनों को चैन ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
माँ
माँ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कैसे यह अनुबंध हैं, कैसे यह संबंध ।
कैसे यह अनुबंध हैं, कैसे यह संबंध ।
sushil sarna
*मेरे पापा*
*मेरे पापा*
Shashi kala vyas
" ज़ेल नईखे सरल "
Chunnu Lal Gupta
बावरी
बावरी
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
"आँखें तो"
Dr. Kishan tandon kranti
तुम हासिल ही हो जाओ
तुम हासिल ही हो जाओ
हिमांशु Kulshrestha
आँखों में सुरमा, जब लगातीं हों तुम
आँखों में सुरमा, जब लगातीं हों तुम
The_dk_poetry
बहुत कुछ जल रहा है अंदर मेरे
बहुत कुछ जल रहा है अंदर मेरे
डॉ. दीपक मेवाती
फूल मोंगरा
फूल मोंगरा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
बाल दिवस पर मेरी कविता
बाल दिवस पर मेरी कविता
Tarun Singh Pawar
अपनी कद्र
अपनी कद्र
Paras Nath Jha
कैसे देख पाओगे
कैसे देख पाओगे
ओंकार मिश्र
हम तो यही बात कहेंगे
हम तो यही बात कहेंगे
gurudeenverma198
*याद  तेरी  यार  आती है*
*याद तेरी यार आती है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरा जीवन बसर नहीं होता।
मेरा जीवन बसर नहीं होता।
सत्य कुमार प्रेमी
मैं तो महज तकदीर हूँ
मैं तो महज तकदीर हूँ
VINOD CHAUHAN
मेरा बचपन
मेरा बचपन
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
वृक्ष बन जाओगे
वृक्ष बन जाओगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
Pravesh Shinde
"नवसंवत्सर सबको शुभ हो..!"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
जो रास्ता उसके घर की तरफ जाता है
जो रास्ता उसके घर की तरफ जाता है
कवि दीपक बवेजा
अदब
अदब
Dr Parveen Thakur
🌿 Brain thinking ⚘️
🌿 Brain thinking ⚘️
Ms.Ankit Halke jha
इश्क़ के नाम पर धोखा मिला करता है यहां।
इश्क़ के नाम पर धोखा मिला करता है यहां।
Phool gufran
पारा बढ़ता जा रहा, गर्मी गुस्सेनाक (कुंडलिया )
पारा बढ़ता जा रहा, गर्मी गुस्सेनाक (कुंडलिया )
Ravi Prakash
Loading...