Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Mar 2023 · 1 min read

पल भर में बदल जाए

समझें अगर सब अपने हिस्से की ज़िम्मेदारी ।
पल भर में बदल जाये फिर सूरत यह सारी ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
9 Likes · 325 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
दो दोहे
दो दोहे
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
हर वो दिन खुशी का दिन है
हर वो दिन खुशी का दिन है
shabina. Naaz
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
ह्रदय जब स्वच्छता से ओतप्रोत होगा।
Sahil Ahmad
!! सुविचार !!
!! सुविचार !!
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जब कोई आपसे बहुत बोलने वाला व्यक्ति
जब कोई आपसे बहुत बोलने वाला व्यक्ति
पूर्वार्थ
3073.*पूर्णिका*
3073.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
एक कमबख्त यादें हैं तेरी !
एक कमबख्त यादें हैं तेरी !
The_dk_poetry
जिन्दगी से भला इतना क्यूँ खौफ़ खाते हैं
जिन्दगी से भला इतना क्यूँ खौफ़ खाते हैं
Shweta Soni
फितरत
फितरत
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
जिस्म से जान जैसे जुदा हो रही है...
जिस्म से जान जैसे जुदा हो रही है...
Sunil Suman
लोकतंत्र का महापर्व
लोकतंत्र का महापर्व
इंजी. संजय श्रीवास्तव
संतुलित रखो जगदीश
संतुलित रखो जगदीश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
Ranjeet kumar patre
" मुद्रा "
Dr. Kishan tandon kranti
सियासत में आकर।
सियासत में आकर।
Taj Mohammad
देशभक्त मातृभक्त पितृभक्त गुरुभक्त चरित्रवान विद्वान बुद्धिम
देशभक्त मातृभक्त पितृभक्त गुरुभक्त चरित्रवान विद्वान बुद्धिम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
سب کو عید مبارک ہو،
سب کو عید مبارک ہو،
DrLakshman Jha Parimal
वो मेरी कविता
वो मेरी कविता
Dr.Priya Soni Khare
11. एक उम्र
11. एक उम्र
Rajeev Dutta
मम्मास बेबी
मम्मास बेबी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सर्वश्रेष्ठ कर्म
सर्वश्रेष्ठ कर्म
Dr. Upasana Pandey
है धरा पर पाप का हर अभिश्राप बाकी!
है धरा पर पाप का हर अभिश्राप बाकी!
Bodhisatva kastooriya
रिश्तों के
रिश्तों के
Dr fauzia Naseem shad
झाँका जो इंसान में,
झाँका जो इंसान में,
sushil sarna
*दौड़ा लो आया शरद, लिए शीत-व्यवहार【कुंडलिया】*
*दौड़ा लो आया शरद, लिए शीत-व्यवहार【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
बेटा पढ़ाओ कुसंस्कारों से बचाओ
बेटा पढ़ाओ कुसंस्कारों से बचाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक दिन जब वो अचानक सामने ही आ गए।
एक दिन जब वो अचानक सामने ही आ गए।
सत्य कुमार प्रेमी
ग़़ज़ल
ग़़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
#आज_का_नारा
#आज_का_नारा
*प्रणय प्रभात*
Loading...