Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2023 · 1 min read

#परिहास-

#परिहास-
■ शाब्दिक मसखरी भी होती रहनी चाहिए, ताकि जीवन को रस भी मिलता रहे और आनंद भी।।

1 Like · 95 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सावन में घिर घिर घटाएं,
सावन में घिर घिर घटाएं,
Seema gupta,Alwar
"बात हीरो की"
Dr. Kishan tandon kranti
राह
राह
Neeraj Mishra " नीर "
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Unlocking the Potential of the LK99 Superconductor: Investigating its Zero Resistance and Breakthrough Application Advantages
Shyam Sundar Subramanian
छिपकली
छिपकली
Dr Archana Gupta
छोटे-मोटे कामों और
छोटे-मोटे कामों और
*प्रणय प्रभात*
ज़िक्र-ए-वफ़ा हो या बात हो बेवफ़ाई की ,
ज़िक्र-ए-वफ़ा हो या बात हो बेवफ़ाई की ,
sushil sarna
...........,,
...........,,
शेखर सिंह
कोहिनूराँचल
कोहिनूराँचल
डिजेन्द्र कुर्रे
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
कार्तिक नितिन शर्मा
बाल मन
बाल मन
लक्ष्मी सिंह
काव्य का आस्वादन
काव्य का आस्वादन
कवि रमेशराज
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
पूर्वार्थ
परित्यक्ता
परित्यक्ता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
है तो है
है तो है
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
सागर-मंथन की तरह, मथो स्वयं को रोज
सागर-मंथन की तरह, मथो स्वयं को रोज
डॉ.सीमा अग्रवाल
स्त्री
स्त्री
Shweta Soni
हरी भरी थी जो शाखें दरख्त की
हरी भरी थी जो शाखें दरख्त की
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
आओ बुद्ध की ओर चलें
आओ बुद्ध की ओर चलें
Shekhar Chandra Mitra
शासक की कमजोरियों का आकलन
शासक की कमजोरियों का आकलन
Mahender Singh
*नल (बाल कविता)*
*नल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
भोले भाले शिव जी
भोले भाले शिव जी
Harminder Kaur
दिल लगाएं भगवान में
दिल लगाएं भगवान में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पितर
पितर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
राह पर चलते चलते घटित हो गई एक अनहोनी, थम गए कदम,
राह पर चलते चलते घटित हो गई एक अनहोनी, थम गए कदम,
Sukoon
जिस नारी ने जन्म दिया
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD CHAUHAN
****मैं इक निर्झरिणी****
****मैं इक निर्झरिणी****
Kavita Chouhan
वो आये और देख कर जाने लगे
वो आये और देख कर जाने लगे
Surinder blackpen
मनांतर🙏
मनांतर🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
भीम षोडशी
भीम षोडशी
SHAILESH MOHAN
Loading...