Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Oct 2016 · 1 min read

नेह लुटाती चाँदनी

शीतल, उज्जवल रश्मियाँ, बरसे अमृत धार।
नेह लुटाती चाँदनी, कर सोलह श्रृंगार।।

शरद पूर्णिमा रात में, खिले कुमुदनी फूल।
रास रचाए मोहना, कालिंदी के कूल।।

सोलह कला मयंक की, आश्विन पूनो ख़ास।
उतरी धरा पर माँ श्री, आया कार्तिक मास।।

लक्ष्मी की आराधना, अमृतमय खीर पान।
पूर्ण हो मनोकामना, बढे मान-सम्मान।।

© हिमकर श्याम

Language: Hindi
628 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तेरी अबरू लाजवाब है
तेरी अबरू लाजवाब है
Shiv kumar Barman
23/52.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/52.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"हमारे नेता "
DrLakshman Jha Parimal
* वर्षा ऋतु *
* वर्षा ऋतु *
surenderpal vaidya
चाँद
चाँद
Vandna Thakur
कुछ बेशकीमती छूट गया हैं तुम्हारा, वो तुम्हें लौटाना चाहता हूँ !
कुछ बेशकीमती छूट गया हैं तुम्हारा, वो तुम्हें लौटाना चाहता हूँ !
The_dk_poetry
आदमी इस दौर का हो गया अंधा …
आदमी इस दौर का हो गया अंधा …
shabina. Naaz
तुम तो ठहरे परदेशी
तुम तो ठहरे परदेशी
विशाल शुक्ल
हुऐ बर्बाद हम तो आज कल आबाद तो होंगे
हुऐ बर्बाद हम तो आज कल आबाद तो होंगे
Anand Sharma
शब्दों में प्रेम को बांधे भी तो कैसे,
शब्दों में प्रेम को बांधे भी तो कैसे,
Manisha Manjari
"नेवला की सोच"
Dr. Kishan tandon kranti
अटल बिहारी मालवीय जी (रवि प्रकाश की तीन कुंडलियाँ)
अटल बिहारी मालवीय जी (रवि प्रकाश की तीन कुंडलियाँ)
Ravi Prakash
ਇਸ਼ਕ਼ ਨੂੰ ਮਹਿਸੂਸ ਕਰਦਿਆਂ
ਇਸ਼ਕ਼ ਨੂੰ ਮਹਿਸੂਸ ਕਰਦਿਆਂ
Surinder blackpen
कृष्ण जी के जन्म का वर्णन
कृष्ण जी के जन्म का वर्णन
Ram Krishan Rastogi
वाह वाही कभी पाता नहीं हूँ,
वाह वाही कभी पाता नहीं हूँ,
Satish Srijan
मन की कसक
मन की कसक
पंछी प्रगति
#तेवरी / #त्यौहार_गए
#तेवरी / #त्यौहार_गए
*Author प्रणय प्रभात*
Success is not final
Success is not final
Swati
ये जो मेरी आँखों में
ये जो मेरी आँखों में
हिमांशु Kulshrestha
काली स्याही के अनेक रंग....!!!!!
काली स्याही के अनेक रंग....!!!!!
Jyoti Khari
सितम गर हुआ है।
सितम गर हुआ है।
Taj Mohammad
पर्यावरण
पर्यावरण
Madhavi Srivastava
भुला ना सका
भुला ना सका
Dr. Mulla Adam Ali
मेरी शक्ति
मेरी शक्ति
Dr.Priya Soni Khare
Ajib shakhshiyat hoti hai khuch logo ki ,
Ajib shakhshiyat hoti hai khuch logo ki ,
Sakshi Tripathi
गुस्सा दिलाकर ,
गुस्सा दिलाकर ,
Umender kumar
उसका अपना कोई
उसका अपना कोई
Dr fauzia Naseem shad
🏞️प्रकृति 🏞️
🏞️प्रकृति 🏞️
Vandna thakur
Global climatic change and it's impact on Human life
Global climatic change and it's impact on Human life
Shyam Sundar Subramanian
शब्द
शब्द
Neeraj Agarwal
Loading...