Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jul 2023 · 1 min read

#निस्वार्थ-

#निस्वार्थ-
■ आज कौन लिखता है किसी पर…?

1 Like · 238 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*माँ : 7 दोहे*
*माँ : 7 दोहे*
Ravi Prakash
गज़ल सी रचना
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
गीत
गीत
जगदीश शर्मा सहज
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
कैसे चला जाऊ तुम्हारे रास्ते से ऐ जिंदगी
देवराज यादव
पहले की भारतीय सेना
पहले की भारतीय सेना
Satish Srijan
छटपटाता रहता है आम इंसान
छटपटाता रहता है आम इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बुद्ध सा करुणामयी कोई नहीं है।
बुद्ध सा करुणामयी कोई नहीं है।
Buddha Prakash
शुरुआत जरूरी है
शुरुआत जरूरी है
Shyam Pandey
इल्म
इल्म
Bodhisatva kastooriya
#मौसनी_मसखरी
#मौसनी_मसखरी
*Author प्रणय प्रभात*
हँसकर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का;
हँसकर जीना दस्तूर है ज़िंदगी का;
पूर्वार्थ
💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐
💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
दर्द  जख्म कराह सब कुछ तो हैं मुझ में
दर्द जख्म कराह सब कुछ तो हैं मुझ में
Ashwini sharma
मैं अशुद्ध बोलता हूं
मैं अशुद्ध बोलता हूं
Keshav kishor Kumar
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
वाणी वह अस्त्र है जो आपको जीवन में उन्नति देने व अवनति देने
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
Arvind trivedi
"चलना"
Dr. Kishan tandon kranti
ओम के दोहे
ओम के दोहे
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
संबंधों के नाम बता दूँ
संबंधों के नाम बता दूँ
Suryakant Dwivedi
आज़ाद भारत एक ऐसा जुमला है
आज़ाद भारत एक ऐसा जुमला है
SURYA PRAKASH SHARMA
चिंतन और अनुप्रिया
चिंतन और अनुप्रिया
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
नीला अम्बर नील सरोवर
नीला अम्बर नील सरोवर
डॉ. शिव लहरी
न छीनो मुझसे मेरे गम
न छीनो मुझसे मेरे गम
Mahesh Tiwari 'Ayan'
पृथ्वी की दरारें
पृथ्वी की दरारें
Santosh Shrivastava
संविधान को अपना नाम देने से ज्यादा महान तो उसको बनाने वाले थ
संविधान को अपना नाम देने से ज्यादा महान तो उसको बनाने वाले थ
SPK Sachin Lodhi
तुम्हारे  रंग  में  हम  खुद  को  रंग  डालेंगे
तुम्हारे रंग में हम खुद को रंग डालेंगे
shabina. Naaz
कभी कम नहीं हो यह नूर
कभी कम नहीं हो यह नूर
gurudeenverma198
केतकी का अंश
केतकी का अंश
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
उसे भुलाने के सभी,
उसे भुलाने के सभी,
sushil sarna
Loading...