Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 May 2018 · 1 min read

निस्वार्थ भावना,

सदा रहे निस्वार्थ भावना, हो जग का कल्याण,
सतत साधना के ही बल पर,बनती निज पहिचान,
सहें यातना, किन्तु ह्रदय में, भारत माँ का मान,
कर्मठ, सदा साहसी जग में पाते हैं सम्मान

Language: Hindi
392 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
* सत्य,
* सत्य,"मीठा या कड़वा" *
मनोज कर्ण
आलस्य का शिकार
आलस्य का शिकार
Paras Nath Jha
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
तुम्हारी यादें
तुम्हारी यादें
अजहर अली (An Explorer of Life)
ज़िन्दगी भर ज़िन्दगी को ढूँढते हुए जो ज़िन्दगी कट गई,
ज़िन्दगी भर ज़िन्दगी को ढूँढते हुए जो ज़िन्दगी कट गई,
Vedkanti bhaskar
दारू की महिमा अवधी गीत
दारू की महिमा अवधी गीत
प्रीतम श्रावस्तवी
।। मतदान करो ।।
।। मतदान करो ।।
Shivkumar barman
*देना सबको चाहिए, अपनी ऑंखें दान (कुंडलिया )*
*देना सबको चाहिए, अपनी ऑंखें दान (कुंडलिया )*
Ravi Prakash
मुफ्तखोरी
मुफ्तखोरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
चित्रगुप्त सत देव को,करिए सभी प्रणाम।
चित्रगुप्त सत देव को,करिए सभी प्रणाम।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
जीने का हौसला भी
जीने का हौसला भी
Rashmi Sanjay
बार बार बोला गया झूठ भी बाद में सच का परिधान पहन कर सच नजर आ
बार बार बोला गया झूठ भी बाद में सच का परिधान पहन कर सच नजर आ
Babli Jha
■ गीत / पधारो मातारानी
■ गीत / पधारो मातारानी
*प्रणय प्रभात*
राजतंत्र क ठगबंधन!
राजतंत्र क ठगबंधन!
Bodhisatva kastooriya
आज फिर इन आँखों में आँसू क्यों हैं
आज फिर इन आँखों में आँसू क्यों हैं
VINOD CHAUHAN
2753. *पूर्णिका*
2753. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
माँ
माँ
Neelam Sharma
कैसे बचेगी मानवता
कैसे बचेगी मानवता
Dr. Man Mohan Krishna
उम्र आते ही ....
उम्र आते ही ....
sushil sarna
मेरे खाते में भी खुशियों का खजाना आ गया।
मेरे खाते में भी खुशियों का खजाना आ गया।
सत्य कुमार प्रेमी
कितना बदल रहे हैं हम ?
कितना बदल रहे हैं हम ?
Dr fauzia Naseem shad
राजा अगर मूर्ख हो तो पैसे वाले उसे तवायफ की तरह नचाते है❗
राजा अगर मूर्ख हो तो पैसे वाले उसे तवायफ की तरह नचाते है❗
शेखर सिंह
"अह शब्द है मजेदार"
Dr. Kishan tandon kranti
"कुछ तो गुना गुना रही हो"
Lohit Tamta
प्यार के सरोवर मे पतवार होगया।
प्यार के सरोवर मे पतवार होगया।
Anil chobisa
वृक्ष बन जाओगे
वृक्ष बन जाओगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मिले
मिले
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
Thinking
Thinking
Neeraj Agarwal
बेवजह कभी कुछ  नहीं होता,
बेवजह कभी कुछ नहीं होता,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
Loading...