Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2023 · 1 min read

नियत

नियत

नियत को साफ रख सब कुछ मिल जाएगा।
एक दिन ऐसा आएगा कि भगवान भी तेरे ,
दिल में अपना आशियाना बनाने आएगा।

1 Like · 203 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"ग से गमला"
Dr. Kishan tandon kranti
अर्ज किया है जनाब
अर्ज किया है जनाब
शेखर सिंह
(6) सूने मंदिर के दीपक की लौ
(6) सूने मंदिर के दीपक की लौ
Kishore Nigam
दीदार
दीदार
Vandna thakur
हौसला देने वाले अशआर
हौसला देने वाले अशआर
Dr fauzia Naseem shad
पीछे मुड़कर
पीछे मुड़कर
Davina Amar Thakral
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
सत्य कुमार प्रेमी
गुनाह लगता है किसी और को देखना
गुनाह लगता है किसी और को देखना
Trishika S Dhara
क्यूँ जुल्फों के बादलों को लहरा के चल रही हो,
क्यूँ जुल्फों के बादलों को लहरा के चल रही हो,
Ravi Betulwala
अंतरद्वंद
अंतरद्वंद
Happy sunshine Soni
भक्ति- निधि
भक्ति- निधि
Dr. Upasana Pandey
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
Dr. Man Mohan Krishna
परिवर्तन
परिवर्तन
विनोद सिल्ला
आंधियां* / PUSHPA KUMARI
आंधियां* / PUSHPA KUMARI
Dr MusafiR BaithA
*उदघोष*
*उदघोष*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3513.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3513.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
*** बिंदु और परिधि....!!! ***
VEDANTA PATEL
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
*भीड बहुत है लोग नहीं दिखते* ( 11 of 25 )
Kshma Urmila
मैं राम का दीवाना
मैं राम का दीवाना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कारक पहेलियां
कारक पहेलियां
Neelam Sharma
न्याय तो वो होता
न्याय तो वो होता
Mahender Singh
गीतिका ******* आधार छंद - मंगलमाया
गीतिका ******* आधार छंद - मंगलमाया
Alka Gupta
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
पूर्वार्थ
हाथी के दांत
हाथी के दांत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मोम की गुड़िया
मोम की गुड़िया
शालिनी राय 'डिम्पल'✍️
किस क़दर गहरा रिश्ता रहा
किस क़दर गहरा रिश्ता रहा
हिमांशु Kulshrestha
*अपनी-अपनी जाति को, देते जाकर वोट (कुंडलिया)*
*अपनी-अपनी जाति को, देते जाकर वोट (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
आप की असफलता में पहले आ शब्द लगा हुआ है जिसका विस्तृत अर्थ ह
Rj Anand Prajapati
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
!! कोई आप सा !!
!! कोई आप सा !!
Chunnu Lal Gupta
Loading...