Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Aug 2023 · 2 min read

नशा और युवा

युवा इसको गंभीरता से समझे ,
नशे की लत से दूर रहें…….

इन दोनों तस्वीरों में सिर्फ आठ साल और तीन माह का फर्क है! यह तस्वीर मशहूर ब्रिटिश सिंगर एमी वाइनहाउस की हैं!
इन 8 सालों में एमी वाइनहाउस ने जिंदगी के कई रूप देखे!
ब्रिटेन में सुबह का सूरज निकलते ही एमी के गाने हर दुकान, रेडियो स्टेशन, कॉफी कार्नर और गाड़ियों के स्टीरियो में बजना शुरू हो जाता! उसकी जज्बात से लबरेज आवाज हर आईपैड और हेडफोन में गूंज रही होती! वह लग्जरी गाड़ियों आलीशान होटल अमीरों की महफिलों की भीड़ में दिखाई देती!
फिर यह वक़्त भी आया जब रात गए लंदन की तारीक़ गलियों में औंधे मुंह पड़ी हुई नजर आती! बार और क्लब ने उनकी एंट्री पर पाबंदी लगा रखी थी! नशा और डिप्रेशन एमी का हुस्न, शोहरत, इज्जत, आलीशान जिंदगी सब खा गया!
आठ सालों में एमी ने जिंदगी का हर रूप देखा अधूरे रिश्ते, अपनों की बेमुरौवती, मतलबी दोस्त उन सब से एमी तन्हाई और डिप्रेशन का शिकार होती गई!
उसके जज्बात उसके गानों में भी मिलते! वह जिंदगी की रंगीनियों से दूर होती गई! अपने आखिरी वक़्त में वह बिल्कुल तन्हा हो गई थी!
23 जुलाई की सुबह 27 साल की एमी वाइनहाउस की लाश अपने फ्लैट से इस हालत में मिली कि पूरा कमरा शराब की खाली बोतलों से भरा पड़ा था!
एमी की दिल दहलाने वाली पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आई, जिसमें उसके जिस्म में अल्कोहल की मात्रा खून की मात्रा से ज्यादा था!
नशे की लत से दूर रहें, यह आपकी जिंदगी को खा जाती है!

Language: Hindi
1 Like · 199 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
शिव प्रताप लोधी
मेरे दिल की हर इक वो खुशी बन गई
मेरे दिल की हर इक वो खुशी बन गई
कृष्णकांत गुर्जर
"नजारा"
Dr. Kishan tandon kranti
लोभ मोह ईष्या 🙏
लोभ मोह ईष्या 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
क्यों करते हो गुरुर अपने इस चार दिन के ठाठ पर
क्यों करते हो गुरुर अपने इस चार दिन के ठाठ पर
Sandeep Kumar
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
Tarun Garg
काश तुम ये जान पाते...
काश तुम ये जान पाते...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ११)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ११)
Kanchan Khanna
किसी भी चीज़ की आशा में गँवा मत आज को देना
किसी भी चीज़ की आशा में गँवा मत आज को देना
आर.एस. 'प्रीतम'
धनतेरस के अवसर पर ,
धनतेरस के अवसर पर ,
Yogendra Chaturwedi
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
तुझे देंगे धरती मां बलिदान अपना
तुझे देंगे धरती मां बलिदान अपना
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
दासता
दासता
Bodhisatva kastooriya
भारत की सेना
भारत की सेना
Satish Srijan
“गर्व करू, घमंड नहि”
“गर्व करू, घमंड नहि”
DrLakshman Jha Parimal
"विचार-धारा
*प्रणय प्रभात*
हिंदू कट्टरवादिता भारतीय सभ्यता पर इस्लाम का प्रभाव है
हिंदू कट्टरवादिता भारतीय सभ्यता पर इस्लाम का प्रभाव है
Utkarsh Dubey “Kokil”
कजरी लोक गीत
कजरी लोक गीत
लक्ष्मी सिंह
नारी....एक सच
नारी....एक सच
Neeraj Agarwal
या देवी सर्वभूतेषु माँ स्कंदमाता रूपेण संस्थिता । नमस्तस्यै
या देवी सर्वभूतेषु माँ स्कंदमाता रूपेण संस्थिता । नमस्तस्यै
Harminder Kaur
आग से जल कर
आग से जल कर
हिमांशु Kulshrestha
दोहा पंचक. . . . . दम्भ
दोहा पंचक. . . . . दम्भ
sushil sarna
संगीत
संगीत
Vedha Singh
#पंचैती
#पंचैती
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
Dr. Vaishali Verma
मिलने वाले कभी मिलेंगें
मिलने वाले कभी मिलेंगें
Shweta Soni
--कहाँ खो गया ज़माना अब--
--कहाँ खो गया ज़माना अब--
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
बेख़बर
बेख़बर
Shyam Sundar Subramanian
अपना यह गणतन्त्र दिवस, ऐसे हम मनायें
अपना यह गणतन्त्र दिवस, ऐसे हम मनायें
gurudeenverma198
Loading...