Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jan 2023 · 1 min read

नववर्ष

अनुष्टुप छंद
संवत्सरमिदंस्वस्ति सर्वेभ्यो भव सर्वदा।
बालारुणसमं सौख्यं, वर्धन्तु तव जीवने।
भद्रमस्तु इदं वर्षं, तथा भावी दिवानिशे।
वृद्धिशीला: भवेद्धर्षं, तथा स्वास्थ्यं वयोबलं।

अंकित शर्मा ‘इषुप्रिय’

Language: Sanskrit
2 Likes · 478 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अंकित शर्मा 'इषुप्रिय'
View all
You may also like:
ना मसले अदा के होते हैं
ना मसले अदा के होते हैं
Phool gufran
होके रुकसत कहा जाओगे
होके रुकसत कहा जाओगे
Awneesh kumar
इंसान फिर भी
इंसान फिर भी
Dr fauzia Naseem shad
मैं हिंदी में इस लिए बात करता हूं क्योंकि मेरी भाषा ही मेरे
मैं हिंदी में इस लिए बात करता हूं क्योंकि मेरी भाषा ही मेरे
Rj Anand Prajapati
" सीमाएँ "
Dr. Kishan tandon kranti
पिता
पिता
Mamta Rani
#शख़्सियत...
#शख़्सियत...
*प्रणय प्रभात*
शु'आ - ए- उम्मीद
शु'आ - ए- उम्मीद
Shyam Sundar Subramanian
हिन्दी दोहा- मीन-मेख
हिन्दी दोहा- मीन-मेख
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ठहर गया
ठहर गया
sushil sarna
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाक़ी है..!
बाक़ी है..!
Srishty Bansal
मेरा सपना
मेरा सपना
Adha Deshwal
सुरभित - मुखरित पर्यावरण
सुरभित - मुखरित पर्यावरण
संजय कुमार संजू
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
Seema gupta,Alwar
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
खुश होगा आंधकार भी एक दिन,
goutam shaw
My Guardian Angel!
My Guardian Angel!
R. H. SRIDEVI
“सभी के काम तुम आओ”
“सभी के काम तुम आओ”
DrLakshman Jha Parimal
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
जाते जाते कुछ कह जाते --
जाते जाते कुछ कह जाते --
Seema Garg
मेरा दिल अंदर तक सहम गया..!!
मेरा दिल अंदर तक सहम गया..!!
Ravi Betulwala
तन्हाई
तन्हाई
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
3303.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3303.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
अब बहुत हुआ बनवास छोड़कर घर आ जाओ बनवासी।
अब बहुत हुआ बनवास छोड़कर घर आ जाओ बनवासी।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
यह 🤦😥😭दुःखी संसार🌐🌏🌎🗺️
यह 🤦😥😭दुःखी संसार🌐🌏🌎🗺️
डॉ० रोहित कौशिक
*सुकुं का झरना*... ( 19 of 25 )
*सुकुं का झरना*... ( 19 of 25 )
Kshma Urmila
आप, मैं और एक कप चाय।
आप, मैं और एक कप चाय।
Urmil Suman(श्री)
हर शायर जानता है
हर शायर जानता है
Nanki Patre
Loading...