Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Nov 2022 · 1 min read

नयन – एक गजल

स्वप्न के जब बीज बोते हैं नयन.
खुद को खुद में ही डुबोते हैं नयन.

गर किसी दिन खो गए तो खो गए,
इश्क में कब रोज खोते हैं नयन.

वो निकल दिल से न पाएगा कभी,
रात-दिन जिसको सँजोते हैं नयन.

होने लगती है दिलों में गुदगुदी,
जब किसी से चार होते हैं नयन.

जब परायी पीर पर बहते कभी,
मानिए सच, पाप धोते हैं नयन.

प्रेम-सागर में लगाकर डुबकियाँ,
रात भर तकिया भिगोते हैं नयन.

नींद में भी चार मिसरे लिख दिए,
क्या पता कब यार सोते हैं नयन.

Language: Hindi
1 Like · 2 Comments · 236 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खेल खिलाड़ी
खेल खिलाड़ी
Mahender Singh
करबो हरियर भुंईया
करबो हरियर भुंईया
Mahetaru madhukar
*थर्मस (बाल कविता)*
*थर्मस (बाल कविता)*
Ravi Prakash
वो मेरे प्रेम में कमियाँ गिनते रहे
वो मेरे प्रेम में कमियाँ गिनते रहे
Neeraj Mishra " नीर "
आँखों से नींदे
आँखों से नींदे
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
■ 5 साल में 1 बार पधारो बस।।
■ 5 साल में 1 बार पधारो बस।।
*प्रणय प्रभात*
तो क्या हुआ
तो क्या हुआ
Sûrëkhâ
बुजुर्ग कहीं नहीं जाते ...( पितृ पक्ष अमावस्या विशेष )
बुजुर्ग कहीं नहीं जाते ...( पितृ पक्ष अमावस्या विशेष )
ओनिका सेतिया 'अनु '
धिक्कार है धिक्कार है ...
धिक्कार है धिक्कार है ...
आर एस आघात
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
सत्य कुमार प्रेमी
राम राज्य
राम राज्य
Shashi Mahajan
एक लम्हा है ज़िन्दगी,
एक लम्हा है ज़िन्दगी,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस
अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस
Dr. Kishan tandon kranti
नेता जी
नेता जी
surenderpal vaidya
“मां बनी मम्मी”
“मां बनी मम्मी”
पंकज कुमार कर्ण
ଆପଣ କିଏ??
ଆପଣ କିଏ??
Otteri Selvakumar
दाग
दाग
Neeraj Agarwal
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
मेरा देश एक अलग ही रसते पे बढ़ रहा है,
नेताम आर सी
"दोस्ती का मतलब"
Radhakishan R. Mundhra
मेरी गुड़िया
मेरी गुड़िया
Kanchan Khanna
आज के युग में कल की बात
आज के युग में कल की बात
Rituraj shivem verma
दिव्य दर्शन है कान्हा तेरा
दिव्य दर्शन है कान्हा तेरा
Neelam Sharma
करता नहीं हूँ फिक्र मैं, ऐसा हुआ तो क्या होगा
करता नहीं हूँ फिक्र मैं, ऐसा हुआ तो क्या होगा
gurudeenverma198
!! एक ख्याल !!
!! एक ख्याल !!
Swara Kumari arya
नंगा चालीसा [ रमेशराज ]
नंगा चालीसा [ रमेशराज ]
कवि रमेशराज
” सबको गीत सुनाना है “
” सबको गीत सुनाना है “
DrLakshman Jha Parimal
मेरा दामन भी तार- तार रहा
मेरा दामन भी तार- तार रहा
Dr fauzia Naseem shad
हर तरफ़ रंज है, आलाम है, तन्हाई है
हर तरफ़ रंज है, आलाम है, तन्हाई है
अरशद रसूल बदायूंनी
Safar : Classmates to Soulmates
Safar : Classmates to Soulmates
Prathmesh Yelne
*मूर्तिकार के अमूर्त भाव जब,
*मूर्तिकार के अमूर्त भाव जब,
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
Loading...