Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

नयनों की चोट

*मुक्तक*
वो लगाकर घात बैठे आज करने नैन चोट।
तृप्ति के आधार मुख पर कर लिये हैं केश ओट।
चाहतें मन में जगा उसने किया हमको अधीर।
फिर प्रणय की आस में दिल पर रहे हैं साँप लोट।
अंकित शर्मा’ इषुप्रिय’
रामपुर कलाँ,सबलगढ(म.प्र.)

165 Views
You may also like:
माँ
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जीत-हार में भेद ना,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आया सावन ओ साजन
Anamika Singh
* सत्य,"मीठा या कड़वा" *
मनोज कर्ण
खमोशी है जिसका गहना
शेख़ जाफ़र खान
गर्भस्थ बेटी की पुकार
Dr Meenu Poonia
पापा की परी...
Sapna K S
अभिलाषा
Anamika Singh
सुभाष चंद्र बोस
Anamika Singh
✍️✍️एहसास✍️✍️
"अशांत" शेखर
चिराग जलाए नहीं
शेख़ जाफ़र खान
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr. Alpa H. Amin
मानव छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
कहानियां
Alok Saxena
क़िस्मत का सितारा।
Taj Mohammad
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
दाने दाने पर नाम लिखा है
Ram Krishan Rastogi
गीत - मुरझाने से क्यों घबराना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
प्रलयंकारी कोरोना
Shriyansh Gupta
लोभ का जमाना
AMRESH KUMAR VERMA
क्यों सत अंतस दृश्य नहीं?
AJAY AMITABH SUMAN
♡ तेरा ख़याल ♡
Dr. Alpa H. Amin
शबनम।
Taj Mohammad
सृजन
Prakash Chandra
मिसाइल मैन
Anamika Singh
अनजान बन गया है।
Taj Mohammad
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
"पिता और शौर्य"
Lohit Tamta
मम्मी म़ुझको दुलरा जाओ..
Rashmi Sanjay
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
Loading...