Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2024 · 1 min read

नज़रें बयां करती हैं,लेकिन इज़हार नहीं करतीं,

नज़रें बयां करती हैं,लेकिन इज़हार नहीं करतीं,
वो पसंद तो करती हैं,लेकिन प्यार नहीं करती।”

— केशव

68 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
होली पर
होली पर
Dr.Pratibha Prakash
कल्पना ही हसीन है,
कल्पना ही हसीन है,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ग़र हो इजाजत
ग़र हो इजाजत
हिमांशु Kulshrestha
"धन वालों मान यहाँ"
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तोड़ सको तो तोड़ दो ,
तोड़ सको तो तोड़ दो ,
sushil sarna
रचना प्रेमी, रचनाकार
रचना प्रेमी, रचनाकार
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
बेटियां देखती स्वप्न जो आज हैं।
बेटियां देखती स्वप्न जो आज हैं।
surenderpal vaidya
*पशु- पक्षियों की आवाजें*
*पशु- पक्षियों की आवाजें*
Dushyant Kumar
जिसके भीतर जो होगा
जिसके भीतर जो होगा
ruby kumari
बलिदानी सिपाही
बलिदानी सिपाही
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Jay prakash dewangan
Jay prakash dewangan
Jay Dewangan
पिता
पिता
लक्ष्मी सिंह
"अमीर खुसरो"
Dr. Kishan tandon kranti
We make Challenges easy and
We make Challenges easy and
Bhupendra Rawat
सजाता हूँ मिटाता हूँ टशन सपने सदा देखूँ
सजाता हूँ मिटाता हूँ टशन सपने सदा देखूँ
आर.एस. 'प्रीतम'
"माँ की छवि"
Ekta chitrangini
अर्कान - फाइलातुन फ़इलातुन फैलुन / फ़अलुन बह्र - रमल मुसद्दस मख़्बून महज़ूफ़ो मक़़्तअ
अर्कान - फाइलातुन फ़इलातुन फैलुन / फ़अलुन बह्र - रमल मुसद्दस मख़्बून महज़ूफ़ो मक़़्तअ
Neelam Sharma
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
Anil chobisa
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Sushila joshi
माँ सरस्वती
माँ सरस्वती
Mamta Rani
World Blood Donar's Day
World Blood Donar's Day
Tushar Jagawat
बदलते दौर में......
बदलते दौर में......
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
एक सूखा सा वृक्ष...
एक सूखा सा वृक्ष...
Awadhesh Kumar Singh
बच्चे (कुंडलिया )
बच्चे (कुंडलिया )
Ravi Prakash
सफलता
सफलता
Paras Nath Jha
तुम बस ज़रूरत ही नहीं,
तुम बस ज़रूरत ही नहीं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ११)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ११)
Kanchan Khanna
#संशोधित_बाल_कविता
#संशोधित_बाल_कविता
*Author प्रणय प्रभात*
आंखों से अश्क बह चले
आंखों से अश्क बह चले
Shivkumar Bilagrami
नारी
नारी
Bodhisatva kastooriya
Loading...