Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jul 2016 · 1 min read

*दोहे*

मंदिर -मस्जिद का सदा, अजब निराला रंग!
करनी पर इंसान की, रब भी अब हैं दंग!!

नेता हैं जो देश के, देते सबको त्रास!
गै़र सभी इनके लिये, ये कुरसी के दास!!

नेताओं ने आज के,रच डाला इतिहास!
हज़म करें ये कोयला,खाते हैं फ़िर घास!!

मिलती है हर शै नहीं, दौलत के बाज़ार!
काम सदा आती दुआ, जब होती दरकार!!

अलंकार होते सदा, कविता का श्रृंगार!
इनके बिन फ़ीके लगें,सारे ही उदगार!!

माँ शारदेय ने किया, हम पर है उपकार!
उसकी रहमत से सजा, कवियों का संसार!!

मानवता छलनी हुई, दानव का सह वार!
अपना था माना जिसे, निकला वह गद्दार!!

नफरत की हैं आँधियां, ज़ुल्मों की भरमार!
नीच पड़ोसी को सदा,जूतों की दरकार!!

ज्ञानी जन जो तज रहे,आज सभी सम्मान!
सोचा किंचित ये नहीं, किसका है अपमान!!

इस कलियुग में हो गया,सच का बँटाधार!
चहुंओर ही झूठ का, अब तो है आधार!!

*धर्मेन्द्र अरोड़ा*
“मुसाफ़िर पानीपती”

Language: Hindi
Tag: दोहा
1 Comment · 382 Views
You may also like:
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
देर
पीयूष धामी
शेर
Rajiv Vishal
“मैं क्यों कहूँ मेरी लेखनी तुम पढ़ो”
DrLakshman Jha Parimal
अन्हरिया रात
Shekhar Chandra Mitra
"नर बेचारा"
Dr Meenu Poonia
हकीकत से रूबरू
कवि दीपक बवेजा
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
समझता है सबसे बड़ा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
दिल्लगी
Harshvardhan "आवारा"
गीत हरदम प्रेम का सदा गुनगुनाते रहें
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ग़ज़ल- मेरे दिल की चाहतों ने
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*रामपुर(मुक्तक)*
Ravi Prakash
■ मुक्तक / जीने का मंत्र
*Author प्रणय प्रभात*
चल पड़ते हैं कभी रुके हुए कारवाँ, उम्मीदों का साथ...
Manisha Manjari
वफादारी
shabina. Naaz
🌴🌴कभी सुनना मुझे हवाओं से🌴🌴
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ऐसे क्यों मुझे तड़पाते हो
Ram Krishan Rastogi
पापा
Abhishek Pandey Abhi
कैसे कितने चेहरे बदलकर
gurudeenverma198
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
✍️ताला और चाबी✍️
'अशांत' शेखर
एक सुन्दरी है
Varun Singh Gautam
मुक्तक
Dr. Girish Chandra Agarwal
अभागीन ममता
ओनिका सेतिया 'अनु '
है श्रेष्ट रक्तदान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हृदय परिवर्तन जो 'बुद्ध' ने किया ..।
Buddha Prakash
जो मुकद्दर में न लिखा हो तेरे
Dr fauzia Naseem shad
जिन्दगी एक दरिया है
Anamika Singh
बंधन
Kaur Surinder
Loading...