Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jul 2016 · 1 min read

दोहे

सूरत से सीरत भली सब से मीठा बोल

कहमे से पहले मगर शब्दों मे रस घोल

रिश्ते नातों को छोड कर चलता बना विदेश

डालर देख ललक बढी फिर भूला अपना देश

खुशी गमी तकदीर की भोगे खुद किरदार

बुरे वक्त मे हों नही साथी रिश्तेदार

हैं संयोग वियोग सब किस्मत के ही हाथ

जितना उसने लिख दिया उतना मिलता साथ

कोयल विरहन गा रही दर्द भरे से गीत

खुशी मनाऊँ आज क्या दूर गये मन मीत

बिन आत्म सम्मान के जीना गया फिज़ूल

उस जीवन को क्या कहें जिसमे नहीं उसूल

Language: Hindi
Tag: दोहा
1 Comment · 410 Views
You may also like:
*जो दसवीं फेल हैं धनवान (मुक्तक)*
Ravi Prakash
तेरे बिना सूनी लगती राहें
जगदीश लववंशी
✍️बंद मुठ्ठी लाख की✍️
'अशांत' शेखर
ग़लतफ़हमी है हमको हम उजाले कर रहे हैं
Anis Shah
उम्मीद पूर्ण व सुखद जिंदगी
Aditya Prakash
अब हार भी हारेगा।
Chaurasia Kundan
भगवान चित्रगुप्त
पंकज कुमार कर्ण
सन्त कवि रैदास पर दोहा एकादशी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चंद दोहे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
'गणेशा' तू है निराला
Seema 'Tu hai na'
*"परिवर्तन नए पड़ाव की ओर"*
Shashi kala vyas
गन्ना जी ! गन्ना जी !
Buddha Prakash
* मनवा क्युं दुखियारा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आंख से आंख मिलाओ तो मजा आता है।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
नूर
Alok Saxena
सच की क़ीमत
Shekhar Chandra Mitra
Writing Challenge- स्वास्थ्य (Health)
Sahityapedia
'सनातन ज्ञान'
Godambari Negi
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
व्यास पूर्णिमा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरे बिन
Harshvardhan "आवारा"
इज़हार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तेरा चलना ओए ओए ओए
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
बुजुर्गों की उपेक्षा आखिर क्यों ?
Dr fauzia Naseem shad
एक अगर तुम मुझको
gurudeenverma198
✍️🌷तुम हक़ीक़त हो, अब फ़साना न बनो🌷✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
काश हमारे पास भी होती ये दौलत।
Taj Mohammad
बहाना
Vikas Sharma'Shivaaya'
असफ़लताओं के गाँव में, कोशिशों का कारवां सफ़ल होता है।
Manisha Manjari
✍️जिंदगानी ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Loading...