Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Dec 2022 · 1 min read

दोहावली…

माँ की आँखें लाड़ में, आँसू से लवरेज।
मोती सच्चे प्यार के, रख ले इन्हें सहेज।।१।।

अपने अपने ना रहे, घर में रहकर गैर।
रिश्ते नाजुक मर रहे, कौन मनाए खैर।।२।।

चूल्हे घर में दो हुए, प्राणी केवल चार।
आँसू पीकर झेलते, विधना तेरी मार।।३।।

अपनी ही संतान जब, करे न मुँह से बात।
क्या होगा इससे बड़ा, दिल पर कह आघात।।४।।

मन को घोटे जी रहे, हलक न आए बैन।
उफ ये कैसी जिन्दगी,हर पल मन बेचैन।।५।।

जिसको सीने से लगा, सभी निभाए फर्ज।
पलभर की वो हाजिरी, आया करने दर्ज।।६।।

याद में जिनकी तड़पे, सारी-सारी रात।
आए आकर दे गए, आँसू की सौगात।।७।।

परदा डालें ज्ञान पर, काम मोह अरु क्रोध।
चंगुल इनके जो फँसे, रहे न सच का बोध।।८।।

खोट निकाले और में, खुद करता आराम।
निंदा-चुगली के सिवा, खलिहर को क्या काम।।९।।

© सीमा अग्रवाल
मुरादाबाद ( उ.प्र.)
“मनके मेरे मन के” से

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 126 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.

Books from डॉ.सीमा अग्रवाल

You may also like:
सम्मान ने अपनी आन की रक्षा में शस्त्र उठाया है, लो बना सारथी कृष्णा फिर से, और रण फिर सज कर आया है।
सम्मान ने अपनी आन की रक्षा में शस्त्र उठाया है, लो बना सारथी कृष्णा फिर से, और रण फिर सज कर आया है।
Manisha Manjari
मेरा शिमला
मेरा शिमला
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Siksha ke vikas ke satat prayash me khud ka yogdan de ,
Siksha ke vikas ke satat prayash me khud ka yogdan de ,
Sakshi Tripathi
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Sangeeta Sangeeta
मेरी आत्मा ईश्वर है
मेरी आत्मा ईश्वर है
Ms.Ankit Halke jha
मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,
मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,
लक्ष्मी सिंह
वादा तो किया था
वादा तो किया था
Ranjana Verma
2299.पूर्णिका
2299.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
💐अज्ञात के प्रति-148💐
💐अज्ञात के प्रति-148💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"वक्त वक्त की बात"
Dr. Kishan tandon kranti
बस यूं ही कोई पुकार गया
बस यूं ही कोई पुकार गया
Satish Srijan
मेरा दामन भी तार-तार रहा
मेरा दामन भी तार-तार रहा
Dr fauzia Naseem shad
डाल-डाल तुम हो कर आओ
डाल-डाल तुम हो कर आओ
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
यश तुम्हारा भी होगा।
यश तुम्हारा भी होगा।
Rj Anand Prajapati
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
Vishal babu (vishu)
मंजिले तड़प रहीं, मिलने को ए सिपाही
मंजिले तड़प रहीं, मिलने को ए सिपाही
Er.Navaneet R Shandily
आओ ऐसा एक भारत बनाएं
आओ ऐसा एक भारत बनाएं
नेताम आर सी
परवरिश
परवरिश
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ईश्वर से यही अरज
ईश्वर से यही अरज
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
खुदकुशी नहीं, इंक़लाब करो
खुदकुशी नहीं, इंक़लाब करो
Shekhar Chandra Mitra
यह तो आदत है मेरी
यह तो आदत है मेरी
gurudeenverma198
#बोध_काव्य-
#बोध_काव्य-
*Author प्रणय प्रभात*
abhinandan
abhinandan
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)*
*अमर रहे गणतंत्र हमारा, मॉं सरस्वती वर दो (देश भक्ति गीत/ सरस्वती वंदना)*
Ravi Prakash
दृश्य
दृश्य
Dr. Rajiv
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
आँखों से भी मतांतर का एहसास होता है , पास रहकर भी विभेदों का
DrLakshman Jha Parimal
प्रेम प्रणय मधुमास का पल
प्रेम प्रणय मधुमास का पल
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
तुम महकोगे सदा मेरी रूह के साथ,
तुम महकोगे सदा मेरी रूह के साथ,
Shyam Pandey
“बेवफा तेरी दिल्लगी की दवा नही मिलती”
“बेवफा तेरी दिल्लगी की दवा नही मिलती”
Basant Bhagwan Roy
फ़र्क़ नहीं है मूर्ख हो,
फ़र्क़ नहीं है मूर्ख हो,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...