Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Oct 2023 · 1 min read

दृढ़

छला जाना तो प्रारब्ध में था,
मेरे कर्मों ने कभी मुझको हारने न दिया।
व्याध बैठे है यहां घर घर में,
एक निरीह को भी मैंने मारने न दिया।।
जय हिंद

Language: Hindi
1 Like · 101 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुक्तक
मुक्तक
महेश चन्द्र त्रिपाठी
चाँदनी .....
चाँदनी .....
sushil sarna
* जिन्दगी की राह *
* जिन्दगी की राह *
surenderpal vaidya
रमेशराज की पेड़ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की पेड़ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
वो हमें भी तो
वो हमें भी तो
Dr fauzia Naseem shad
मंहगाई, भ्रष्टाचार,
मंहगाई, भ्रष्टाचार,
*Author प्रणय प्रभात*
बाल कविता : बादल
बाल कविता : बादल
Rajesh Kumar Arjun
सर्द हवाएं
सर्द हवाएं
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
नेम प्रेम का कर ले बंधु
नेम प्रेम का कर ले बंधु
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*ख़ास*..!!
*ख़ास*..!!
Ravi Betulwala
भिनसार ले जल्दी उठके, रंधनी कती जाथे झटके।
भिनसार ले जल्दी उठके, रंधनी कती जाथे झटके।
PK Pappu Patel
"याद तुम्हारी आती है"
Dr. Kishan tandon kranti
बेटी के जीवन की विडंबना
बेटी के जीवन की विडंबना
Rajni kapoor
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
*जब तू रूठ जाता है*
*जब तू रूठ जाता है*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
एक किताब खोलो
एक किताब खोलो
Dheerja Sharma
बेटियां
बेटियां
Madhavi Srivastava
محبّت عام کرتا ہوں
محبّت عام کرتا ہوں
अरशद रसूल बदायूंनी
2643.पूर्णिका
2643.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मैं छोटी नन्हीं सी गुड़िया ।
मैं छोटी नन्हीं सी गुड़िया ।
लक्ष्मी सिंह
Destiny
Destiny
Sukoon
पुकार
पुकार
Dr.Pratibha Prakash
मिलना था तुमसे,
मिलना था तुमसे,
shambhavi Mishra
-- आधे की हकदार पत्नी --
-- आधे की हकदार पत्नी --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"धूप-छाँव" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
शादी कुँवारे से हो या शादीशुदा से,
शादी कुँवारे से हो या शादीशुदा से,
Dr. Man Mohan Krishna
Dr arun kumar shastri
Dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
उसने मुझको बुलाया तो जाना पड़ा।
उसने मुझको बुलाया तो जाना पड़ा।
सत्य कुमार प्रेमी
बालगीत :- चाँद के चर्चे
बालगीत :- चाँद के चर्चे
Kanchan Khanna
आ गए हम तो बिना बुलाये तुम्हारे घर
आ गए हम तो बिना बुलाये तुम्हारे घर
gurudeenverma198
Loading...