Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Aug 2022 · 1 min read

दिल चाहता है…

दिल चाहता है…
किसी के दर्द को चुरा, भाग जाऊं,
जिसके जीने की वजह बन जाऊं।
कोई तो हो…
उसे करार-ए-ख़ैर के फुहारों से भिगो दूं ।
उसे चैन-ओ-सुकून के समंदर में डुबो दूं।।

सीमा टेलर ‘तू है ना’ (छिम़पीयान‌‌‌ लम्बोर)

Language: Hindi
Tag: Blog, ग़ज़ल, शेर
2 Likes · 4 Comments · 152 Views
You may also like:
" अद्भुत, निराला करवा चौथ "
Dr Meenu Poonia
■ बेशर्म सियासत
*Author प्रणय प्रभात*
वर्क होम में ऐश की
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रैन बसेरा
Shekhar Chandra Mitra
प्रेम
लक्ष्मी सिंह
जब उम्मीदों की स्याही कलम के साथ चलती है।
Manisha Manjari
हम और हमारे 'सपने'
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
हर चीज से वीरान मैं अब श्मशान बन गया हूँ,
Aditya Prakash
✍️'रामराज्य'
'अशांत' शेखर
🌸हे लोहपथगामिनी 🌸🌸
Arvina
#ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
*नया साल आ गया (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
हमको तेरे ख़्याल ने
Dr fauzia Naseem shad
उजड़ती वने
AMRESH KUMAR VERMA
माँ कालरात्रि
Vandana Namdev
रथ रुक गया
सूर्यकांत द्विवेदी
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
माई री ,माई री( भाग १)
Anamika Singh
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️जरूरी है✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
देर
पीयूष धामी
कभी कभी मन करता है या दया आती है और...
Nav Lekhika
हे गणपति गणराज शुभंकर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
"शिवाजी गुरु समर्थ रामदास स्वामी"✨
Pravesh Shinde
अपना कंधा अपना सर
विजय कुमार अग्रवाल
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
कहीं मर न जाए
Seema 'Tu hai na'
उफ़ यह कपटी बंदर
ओनिका सेतिया 'अनु '
दीदार ए वक्त।
Taj Mohammad
Loading...