Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Dec 2023 · 1 min read

दिन सुहाने थे बचपन के पीछे छोड़ आए

दिन सुहाने थे बचपन के पीछे छोड़ आए
जो खजाने थे सारे वो पीछे छोड़ आए
अब तो कागज की नाव कहीं दिखती नहीं
वो बारिश में भीगना भी पीछे छोड़ आए

इन्जी. संजय श्रीवास्तव
16.12.2023

122 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Er. Sanjay Shrivastava
View all
You may also like:
💐Prodigy Love-3💐
💐Prodigy Love-3💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मैं सुर हूॅ॑ किसी गीत का पर साज तुम्ही हो
मैं सुर हूॅ॑ किसी गीत का पर साज तुम्ही हो
VINOD CHAUHAN
मोबाइल
मोबाइल
लक्ष्मी सिंह
सौंधी सौंधी महक मेरे मिट्टी की इस बदन में घुली है
सौंधी सौंधी महक मेरे मिट्टी की इस बदन में घुली है
'अशांत' शेखर
जिदंगी भी साथ छोड़ देती हैं,
जिदंगी भी साथ छोड़ देती हैं,
Umender kumar
2469.पूर्णिका
2469.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ख़त्म होने जैसा
ख़त्म होने जैसा
Sangeeta Beniwal
मुझसे बेज़ार ना करो खुद को
मुझसे बेज़ार ना करो खुद को
Shweta Soni
इंसान को,
इंसान को,
नेताम आर सी
संयुक्त परिवार
संयुक्त परिवार
विजय कुमार अग्रवाल
संत कबीरदास
संत कबीरदास
Pravesh Shinde
* सुनो- सुनो गाथा अग्रोहा अग्रसेन महाराज की (गीत)*
* सुनो- सुनो गाथा अग्रोहा अग्रसेन महाराज की (गीत)*
Ravi Prakash
"तरक्कियों की दौड़ में उसी का जोर चल गया,
शेखर सिंह
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
विमला महरिया मौज
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कोशिस करो कि दोगले लोगों से
कोशिस करो कि दोगले लोगों से
Shankar N aanjna
यही एक काम बुरा, जिंदगी में हमने किया है
यही एक काम बुरा, जिंदगी में हमने किया है
gurudeenverma198
सताया ना कर ये जिंदगी
सताया ना कर ये जिंदगी
Rituraj shivem verma
"चक्र"
Dr. Kishan tandon kranti
ईश्वर की कृपा
ईश्वर की कृपा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
..........अकेला ही.......
..........अकेला ही.......
Naushaba Suriya
ముందుకు సాగిపో..
ముందుకు సాగిపో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
#तन्ज़िया_शेर...
#तन्ज़िया_शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
गमछा जरूरी हs, जब गर्द होला
गमछा जरूरी हs, जब गर्द होला
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
बगावत की आग
बगावत की आग
Shekhar Chandra Mitra
दर्द आँखों में आँसू  बनने  की बजाय
दर्द आँखों में आँसू बनने की बजाय
शिव प्रताप लोधी
मोबाईल नहीं
मोबाईल नहीं
Harish Chandra Pande
जो घर जारै आपनो
जो घर जारै आपनो
Dr MusafiR BaithA
हर बात पे ‘अच्छा’ कहना…
हर बात पे ‘अच्छा’ कहना…
Keshav kishor Kumar
जिद कहो या आदत क्या फर्क,
जिद कहो या आदत क्या फर्क,"रत्न"को
गुप्तरत्न
Loading...