Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jan 2024 · 1 min read

दया समता समर्पण त्याग के आदर्श रघुनंदन।

दया समता समर्पण त्याग के आदर्श रघुनंदन।
सनातन संस्कृति के धर्मध्वज उत्कर्ष रघुनंदन।।
प्रजा की आत्मा के प्राण, उनका मान जीवनधन।
हृदय में जागती संचेतना के, हर्ष रघुनंदन ।।
-जगदीश शर्मा सहज

86 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नदी
नदी
Kumar Kalhans
Life is too short to admire,
Life is too short to admire,
Sakshi Tripathi
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Tarun Singh Pawar
पहले क्या करना हमें,
पहले क्या करना हमें,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
युद्ध के मायने
युद्ध के मायने
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
अटल-अवलोकन
अटल-अवलोकन
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
■ आज का संकल्प...
■ आज का संकल्प...
*Author प्रणय प्रभात*
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हिंदी सबसे प्यारा है
हिंदी सबसे प्यारा है
शेख रहमत अली "बस्तवी"
नव दीप जला लो
नव दीप जला लो
Mukesh Kumar Sonkar
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
कितना मुश्किल है केवल जीना ही ..
कितना मुश्किल है केवल जीना ही ..
Vivek Mishra
मुझे चाहिए एक दिल
मुझे चाहिए एक दिल
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अद्भुद भारत देश
अद्भुद भारत देश
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
दीप की अभिलाषा।
दीप की अभिलाषा।
Kuldeep mishra (KD)
ख़ुद पे गुजरी तो मेरे नसीहतगार,
ख़ुद पे गुजरी तो मेरे नसीहतगार,
ओसमणी साहू 'ओश'
मेरा शहर
मेरा शहर
विजय कुमार अग्रवाल
माह -ए -जून में गर्मी से राहत के लिए
माह -ए -जून में गर्मी से राहत के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
#dr Arun Kumar shastri
#dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
* कैसे अपना प्रेम बुहारें *
* कैसे अपना प्रेम बुहारें *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
अच्छी-अच्छी बातें (बाल कविता)
अच्छी-अच्छी बातें (बाल कविता)
Ravi Prakash
"पशु-पक्षियों की बोली"
Dr. Kishan tandon kranti
रमेशराज की एक तेवरी
रमेशराज की एक तेवरी
कवि रमेशराज
मैं तुझसे बेज़ार बहुत
मैं तुझसे बेज़ार बहुत
Shweta Soni
उदासी एक ऐसा जहर है,
उदासी एक ऐसा जहर है,
लक्ष्मी सिंह
2913.*पूर्णिका*
2913.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गोधरा
गोधरा
Prakash Chandra
धिक्कार
धिक्कार
Shekhar Chandra Mitra
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
Indu Singh
Loading...