Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jul 2023 · 1 min read

थोड़ा ठहर ऐ ज़िन्दगी

थोड़ा ठहर ऐ ज़िन्दगी
कर लूँ ज़रा सी बन्दगी
चुपके से तुझको देखना
नज़रों में है शर्मिन्दगी
मुझको मिटा के चल दिये
अच्छी नहीं ये दरिन्दगी
***
महावीर उत्तरांचली

2 Likes · 2 Comments · 165 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
#लघुकथा / #सम्मान
#लघुकथा / #सम्मान
*Author प्रणय प्रभात*
जो राम हमारे कण कण में थे उन पर बड़ा सवाल किया।
जो राम हमारे कण कण में थे उन पर बड़ा सवाल किया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
*हिन्दी बिषय- घटना*
*हिन्दी बिषय- घटना*
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Rekha Drolia
नहीं उनकी बलि लो तुम
नहीं उनकी बलि लो तुम
gurudeenverma198
Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger
Go to bed smarter than when you woke up — Charlie Munger
पूर्वार्थ
अंत समय
अंत समय
Vandna thakur
जीवन में कभी भी संत रूप में आए व्यक्ति का अनादर मत करें, क्य
जीवन में कभी भी संत रूप में आए व्यक्ति का अनादर मत करें, क्य
Sanjay ' शून्य'
उज्जैन घटना
उज्जैन घटना
Rahul Singh
*रिश्ते*
*रिश्ते*
Dushyant Kumar
2531.पूर्णिका
2531.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
रिश्तों की कसौटी
रिश्तों की कसौटी
VINOD CHAUHAN
यादों के संसार की,
यादों के संसार की,
sushil sarna
*माटी कहे कुम्हार से*
*माटी कहे कुम्हार से*
Harminder Kaur
" मैं कांटा हूँ, तूं है गुलाब सा "
Aarti sirsat
उनकी आंखो मे बात अलग है
उनकी आंखो मे बात अलग है
Vansh Agarwal
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
Shweta Soni
अजनवी
अजनवी
Satish Srijan
व्यक्तित्व और व्यवहार हमारी धरोहर
व्यक्तित्व और व्यवहार हमारी धरोहर
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
साहसी बच्चे
साहसी बच्चे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
शहर
शहर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मानवता की बलिवेदी पर सत्य नहीं झुकता है यारों
मानवता की बलिवेदी पर सत्य नहीं झुकता है यारों
प्रेमदास वसु सुरेखा
दिन भर जाने कहाँ वो जाता
दिन भर जाने कहाँ वो जाता
डॉ.सीमा अग्रवाल
सुता ये ज्येष्ठ संस्कृत की,अलंकृत भाल पे बिंदी।
सुता ये ज्येष्ठ संस्कृत की,अलंकृत भाल पे बिंदी।
Neelam Sharma
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
दिल सचमुच आनंदी मीर बना।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
चाहिए
चाहिए
Punam Pande
"लेकिन"
Dr. Kishan tandon kranti
प्यार ना सही पर कुछ तो था तेरे मेरे दरमियान,
प्यार ना सही पर कुछ तो था तेरे मेरे दरमियान,
Vishal babu (vishu)
यथार्थ
यथार्थ
Shyam Sundar Subramanian
Loading...