Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Mar 2023 · 1 min read

तेरी तसवीर को आज शाम,

तेरी तसवीर को आज शाम,
तन्हाई में बुलाया है मैंने।
बन गई बात ,
तो एक ग़ज़ल हो भी सकती है
धुंधलके में, जो रोशन सी नज़र आये।
दिल के तालाब में,
तू वो कमल हो भी सकती है
सुनसान पड़े, खंडहर से एक दिल मे।
बरसो से दबा , वो एक महल हो भी सकती है।
हां, तू शायद मेरी,
अनकही गजल भी हो सकती है
नवाब “सैम”

368 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
66
66
*Author प्रणय प्रभात*
Love is
Love is
Otteri Selvakumar
सकारात्मकता
सकारात्मकता
Sangeeta Beniwal
International Day Against Drug Abuse
International Day Against Drug Abuse
Tushar Jagawat
प्रेम हैं अनन्त उनमें
प्रेम हैं अनन्त उनमें
The_dk_poetry
*मनुष्य जब मरता है तब उसका कमाया हुआ धन घर में ही रह जाता है
*मनुष्य जब मरता है तब उसका कमाया हुआ धन घर में ही रह जाता है
Shashi kala vyas
आ गए चुनाव
आ गए चुनाव
Sandeep Pande
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
Swami Ganganiya
सिंदूरी भावों के दीप
सिंदूरी भावों के दीप
Rashmi Sanjay
23/83.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/83.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"कष्ट"
नेताम आर सी
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
तू इश्क, तू खूदा
तू इश्क, तू खूदा
लक्ष्मी सिंह
जीवन के सारे सुख से मैं वंचित हूँ,
जीवन के सारे सुख से मैं वंचित हूँ,
Shweta Soni
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
"अन्दर ही अन्दर"
Dr. Kishan tandon kranti
भक्तिकाल
भक्तिकाल
Sanjay ' शून्य'
टूटने का मर्म
टूटने का मर्म
Surinder blackpen
*सत्य की खोज*
*सत्य की खोज*
Dr Shweta sood
Bus tumme hi khona chahti hu mai
Bus tumme hi khona chahti hu mai
Sakshi Tripathi
मुझे तरक्की की तरफ मुड़ने दो,
मुझे तरक्की की तरफ मुड़ने दो,
Satish Srijan
"प्रीत की डोर”
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
" लक्ष्य सिर्फ परमात्मा ही हैं। "
Aryan Raj
गुरु गोविंद सिंह जी की बात बताऊँ
गुरु गोविंद सिंह जी की बात बताऊँ
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
Rahul Smit
💐प्रेम कौतुक-443💐
💐प्रेम कौतुक-443💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
नाम उल्फत में तेरे जिंदगी कर जाएंगे।
Phool gufran
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
* राष्ट्रभाषा हिन्दी *
surenderpal vaidya
अस्तित्व है उसका
अस्तित्व है उसका
Dr fauzia Naseem shad
Loading...