Oct 6, 2016 · 1 min read

तुम जो मिलें

पिया,
तुम जो मुझे मिलें
जिन्दगी की कश्तियाँ सज गई
तुम जो मुझे मिले
मेरी आँखो में मस्तियाँ खिल गई
तुम जो मुझे मिलें———–

पिया,
तुम जो मुझे मिलें
भूली हुई यादें छनछनाने लगी
तुम जो मुझे मिलें
रग-रग मेरी इतराने लगी
तुम जो मुझे मिले———-

पिया,
तुम जो मुझे मिले
मन का दादुर पपीहा गाने लगा
तुम जो मुझे मिलें
जिया हरष हरष हरसाने लगा
जो तुम मुझे मिले———–

पिया ,
जो तुम बहुत दिन बाद मिलें
पिया तुम आकर मत जाना रे
छोड़ अकेला मत भटकाना रे
उर से मुझे लगाये रखना रे
जो तुम मुझे मिलें————

पिया,
जब से तुमसे मिली
बादलों में जैसे बदरियाँ घिरती
प्यासी अखियाँ भी तरसती
बंधन है यह तेरे प्यार का
पिया समर्पण तेरे प्यार को
जो तुम मुझे मिलें——–

डॉ मधु त्रिवेदी

71 Likes · 219 Views
You may also like:
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
भेड़ चाल में फंसी माँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Motivation ! Motivation ! Motivation !
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Rainbow in the sky 🌈
Buddha Prakash
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
सुख दुख
Rakesh Pathak Kathara
मोहब्बत
Kanchan sarda Malu
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं [भाग८]
Anamika Singh
ग़ज़ल- इशारे देखो
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
तुम मेरे वो तुम हो...
Sapna K S
शासन वही करता है
gurudeenverma198
*सदा तुम्हारा मुख नंदी शिव की ही ओर रहा है...
Ravi Prakash
महँगाई
आकाश महेशपुरी
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
अक्षय तृतीया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
दिनेश कार्तिक
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
पापा वो बचपन के
Khushboo Khatoon
चेहरा तुम्हारा।
Taj Mohammad
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
मां का आंचल
VINOD KUMAR CHAUHAN
हे मात जीवन दायिनी नर्मदे हर नर्मदे हर नर्मदे हर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
Loading...