Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2023 · 1 min read

*तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों*

तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों
***************************

तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन-बान दोस्तों।

देशभक्तों ने थी जिंदगियाँ वार दी,
जिंदगी की खुशियाँ भी नौसार दी,
बलिदान दे बढ़ाया हैं मान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन-बान् दोस्तों।

परवानों के लाल लहू से रंगा हुआ,
दीवानों की दीवानगी में मंढा हुआ,
होना नहीं चाहिए अपमान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन-बान दोस्तों।

हरा,सफेद, केसरी भरे तीन रंग है,
अशोक चक्र सजा मध्य में संग है,
अनेकता में एकता की खान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन-बान दोस्तों।

झंडा भारत देश का कहीं नहीं झुके,
आगे बढ़ता भारत कभी नहीं रुके,
विश्व -पटल पर बढे़ सम्मान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन-बान दोस्तों।

शहीदों की शहादत में सना हुआ,
शूरवीरों की गाथा से है भरा हुआ,
मनसीरत की है जिंद जान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन- बान दोस्तों।

तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों।
हिंदुस्तान की है आन – बान दोस्तों।
***************************
सुखविंद सिंह मनसीरत
खेड़ी राओ वाली (कैथल)

265 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
परिसर खेल का हो या दिल का,
परिसर खेल का हो या दिल का,
पूर्वार्थ
हम मुहब्बत कर रहे थे........
हम मुहब्बत कर रहे थे........
shabina. Naaz
खो दोगे
खो दोगे
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
*आए अंतिम साँस, इमरती चखते-चखते (हास्य कुंडलिया)*
*आए अंतिम साँस, इमरती चखते-चखते (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल _ खुदगर्जियाँ हावी हुईं ।
ग़ज़ल _ खुदगर्जियाँ हावी हुईं ।
Neelofar Khan
बस फेर है नज़र का हर कली की एक अपनी ही बेकली है
बस फेर है नज़र का हर कली की एक अपनी ही बेकली है
Atul "Krishn"
3087.*पूर्णिका*
3087.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
......मंजिल का रास्ता....
......मंजिल का रास्ता....
Naushaba Suriya
🙅आज का ज्ञान🙅
🙅आज का ज्ञान🙅
*प्रणय प्रभात*
ओ मां के जाये वीर मेरे...
ओ मां के जाये वीर मेरे...
Sunil Suman
उम्मीद
उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
"मानद उपाधि"
Dr. Kishan tandon kranti
अपनों में कभी कोई दूरी नहीं होती।
अपनों में कभी कोई दूरी नहीं होती।
लोकनाथ ताण्डेय ''मधुर''
" जिन्दगी के पल"
Yogendra Chaturwedi
दिल ने दिल को दे दिया, उल्फ़त का पैग़ाम ।
दिल ने दिल को दे दिया, उल्फ़त का पैग़ाम ।
sushil sarna
अपना ख्याल रखियें
अपना ख्याल रखियें
Dr .Shweta sood 'Madhu'
ज्ञान -दीपक
ज्ञान -दीपक
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बात का जबाब बात है
बात का जबाब बात है
शेखर सिंह
When you think it's worst
When you think it's worst
Ankita Patel
एक ख्वाब थे तुम,
एक ख्वाब थे तुम,
लक्ष्मी सिंह
औकात
औकात
Dr.Priya Soni Khare
बहुत ख्वाहिश थी ख्वाहिशों को पूरा करने की
बहुत ख्वाहिश थी ख्वाहिशों को पूरा करने की
VINOD CHAUHAN
अति मंद मंद , शीतल बयार।
अति मंद मंद , शीतल बयार।
Kuldeep mishra (KD)
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
कभी छोड़ना नहीं तू , यह हाथ मेरा
gurudeenverma198
कुछ राज़ बताए थे अपनों को
कुछ राज़ बताए थे अपनों को
Rekha khichi
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
आनंद प्रवीण
मेरी हास्य कविताएं अरविंद भारद्वाज
मेरी हास्य कविताएं अरविंद भारद्वाज
अरविंद भारद्वाज
"कुण्डलिया"
surenderpal vaidya
मैं जब भी लड़ नहीं पाई हूँ इस दुनिया के तोहमत से
मैं जब भी लड़ नहीं पाई हूँ इस दुनिया के तोहमत से
Shweta Soni
"दोस्त-दोस्ती और पल"
Lohit Tamta
Loading...