Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Aug 2023 · 1 min read

तलाशती रहती हैं

तलाशती रहती हैं
मेरी नज़रें तुझे हर लम्हा
लौट आते हैं मेरी यादों के ख़त
तेरी चौखट से टकरा कर
एक तू है,
जिसका पता भी नहीं मिलता

हिमांशु Kulshreshtha

196 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
चार पैसे भी नही....
चार पैसे भी नही....
Vijay kumar Pandey
जमाना खराब हैं....
जमाना खराब हैं....
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
3200.*पूर्णिका*
3200.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आरक्षण
आरक्षण
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
रिश्तों का बदलता स्वरूप
रिश्तों का बदलता स्वरूप
पूर्वार्थ
It was separation
It was separation
VINOD CHAUHAN
प्रतिध्वनि
प्रतिध्वनि
इंजी. संजय श्रीवास्तव
हब्स के बढ़ते हीं बारिश की दुआ माँगते हैं
हब्स के बढ़ते हीं बारिश की दुआ माँगते हैं
Shweta Soni
श्राद्ध
श्राद्ध
Mukesh Kumar Sonkar
*हो न हो कारण भले, पर मुस्कुराना चाहिए 【मुक्तक 】*
*हो न हो कारण भले, पर मुस्कुराना चाहिए 【मुक्तक 】*
Ravi Prakash
इतना भी खुद में
इतना भी खुद में
Dr fauzia Naseem shad
Canine Friends
Canine Friends
Dhriti Mishra
बड़े हुए सब चल दिये,
बड़े हुए सब चल दिये,
sushil sarna
ख़ुदा बताया करती थी
ख़ुदा बताया करती थी
Madhuyanka Raj
बेटिया विदा हो जाती है खेल कूदकर उसी आंगन में और बहू आते ही
बेटिया विदा हो जाती है खेल कूदकर उसी आंगन में और बहू आते ही
Ranjeet kumar patre
आए हैं रामजी
आए हैं रामजी
SURYA PRAKASH SHARMA
प्रेम पीड़ा
प्रेम पीड़ा
Shivkumar barman
अपना मन
अपना मन
Neeraj Agarwal
हिंदी दिवस
हिंदी दिवस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हर व्यक्ति की कोई ना कोई कमजोरी होती है। अगर उसका पता लगाया
हर व्यक्ति की कोई ना कोई कमजोरी होती है। अगर उसका पता लगाया
Radhakishan R. Mundhra
सोचो जो बेटी ना होती
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
मुफ़लिसों को बांटिए खुशियां खुशी से।
मुफ़लिसों को बांटिए खुशियां खुशी से।
सत्य कुमार प्रेमी
प्रतीक्षा, प्रतियोगिता, प्रतिस्पर्धा
प्रतीक्षा, प्रतियोगिता, प्रतिस्पर्धा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
अरर मरर के झोपरा / MUSAFIR BAITHA
अरर मरर के झोपरा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
"सन्देश"
Dr. Kishan tandon kranti
कोई दवा दुआ नहीं कोई जाम लिया है
कोई दवा दुआ नहीं कोई जाम लिया है
हरवंश हृदय
वक़्त का सबक़
वक़्त का सबक़
Shekhar Chandra Mitra
ग्लोबल वार्मिंग :चिंता का विषय
ग्लोबल वार्मिंग :चिंता का विषय
कवि अनिल कुमार पँचोली
किसी का सब्र मत आजमाओ,
किसी का सब्र मत आजमाओ,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
स्वयं से सवाल
स्वयं से सवाल
Rajesh
Loading...