Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Aug 2016 · 1 min read

तजुर्बे

जिन्दगी की राह में तज्जुर्बे हजार होते है
कभी हालात कभी ख्यालात बीमार होते हैं

Language: Hindi
Tag: शेर
253 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किताब में किसी खुशबू सा मुझे रख लेना
किताब में किसी खुशबू सा मुझे रख लेना
Shweta Soni
ठोकरें आज भी मुझे खुद ढूंढ लेती हैं
ठोकरें आज भी मुझे खुद ढूंढ लेती हैं
Manisha Manjari
हँसी!
हँसी!
कविता झा ‘गीत’
हम नही रोते परिस्थिति का रोना
हम नही रोते परिस्थिति का रोना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जीवन सुंदर गात
जीवन सुंदर गात
Kaushlendra Singh Lodhi Kaushal
जीवन पथ एक नैय्या है,
जीवन पथ एक नैय्या है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
अनुभूति
अनुभूति
Punam Pande
*पल में बारिश हो रही, पल में खिलती धूप (कुंडलिया)*
*पल में बारिश हो रही, पल में खिलती धूप (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
एक उड़ान, साइबेरिया टू भारत (कविता)
एक उड़ान, साइबेरिया टू भारत (कविता)
Mohan Pandey
बारिश
बारिश
विजय कुमार अग्रवाल
रक्षा बन्धन पर्व ये,
रक्षा बन्धन पर्व ये,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सुबह की एक कप चाय,
सुबह की एक कप चाय,
Neerja Sharma
■ अंतर्कलह और अंतर्विरोध के साथ खुली बगगवत का लोकतांत्रिक सी
■ अंतर्कलह और अंतर्विरोध के साथ खुली बगगवत का लोकतांत्रिक सी
*प्रणय प्रभात*
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जीवन दर्शन मेरी नजर से ...
जीवन दर्शन मेरी नजर से ...
Satya Prakash Sharma
आरुष का गिटार
आरुष का गिटार
shivanshi2011
मैं हु दीवाना तेरा
मैं हु दीवाना तेरा
Basant Bhagawan Roy
पिता
पिता
लक्ष्मी सिंह
दोस्त ना रहा ...
दोस्त ना रहा ...
Abasaheb Sarjerao Mhaske
शिखर पर पहुंचेगा तू
शिखर पर पहुंचेगा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
आप सभी को रामनवमी की हार्दिक शुभकामनाएं
Lokesh Sharma
बुंदेली लघुकथा - कछु तुम समजे, कछु हम
बुंदेली लघुकथा - कछु तुम समजे, कछु हम
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
संकट..
संकट..
Sushmita Singh
सबकी विपदा हरे हनुमान
सबकी विपदा हरे हनुमान
sudhir kumar
दिल के दरवाज़े
दिल के दरवाज़े
Bodhisatva kastooriya
मतदान
मतदान
साहिल
"देखो"
Dr. Kishan tandon kranti
किसी वजह से जब तुम दोस्ती निभा न पाओ
किसी वजह से जब तुम दोस्ती निभा न पाओ
ruby kumari
2829. *पूर्णिका*
2829. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*घर*
*घर*
Dushyant Kumar
Loading...