Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jan 2024 · 1 min read

जो सोचते हैं अलग दुनिया से,जिनके अलग काम होते हैं,

जो सोचते हैं अलग दुनिया से,जिनके अलग काम होते हैं,
उन्हीं को मिलती है कामयाबी,उन्हीं के किस्से आम होते हैं।
भरे होते हैं हौसलों से,चाहे कितना भी बुरा वक्त हो
उफ़ तक नहीं करते,चाहे हालात कितने भी सख्त हों,
सपने करते हैं साकार,चाहे सौ बार नाकाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी,उन्हीं के किस्से आम होते हैं।
जब चलती है आंधियां,तबाही के तूफ़ान चलते हैं,ऐसी ही घडी में
दिल में कुछ अरमान पलते हैं,,जिनकी जिंदगी के सभी पल
फिर उसी अरमान के नाम होते हैं,उन्हीं को मिलती है कामयाबी
उन्हीं के किस्से आम होते हैं।
ढूंढते हैं जो अवसर अक्सर,अपनी परेशानियों में
शामिल हो जाते हैं वो,शोहरत की कहानियों में,
आगाज़ कैसे भी हों,बेहतर उनके अंजाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी,उन्हीं के किस्से आम होते हैं।
नहीं माने जो हार भले,कितनी ही बड़ी मुसीबत हो
बस बढ़ना है हमको आगे,सबको यही नसीहत हो,
मजबूरी में भी जो कभी,न किसी के गुलाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी,उन्हीं के किस्से आम होते हैं।
वही रचते हैं इतिहास नया,दुनिया में जाने जाते हैं
उनके जीवन के बारे में,उनके दीवाने गाते हैं,
गुजरते हैं जहाँ से वो,वहीं लोगों के सलाम होते हैं
उन्हीं को मिलती है कामयाबी,उन्हीं के किस्से आम होते हैं।

81 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बेबाक ज़िन्दगी
बेबाक ज़िन्दगी
Neelam Sharma
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
Santosh Soni
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो पढ़ना जरूर ।
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो पढ़ना जरूर ।
Rajesh vyas
जन्म से मरन तक का सफर
जन्म से मरन तक का सफर
Vandna Thakur
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
क्यूं हो शामिल ,प्यासों मैं हम भी //
गुप्तरत्न
वो,
वो,
हिमांशु Kulshrestha
अज़ल से इंतजार किसका है
अज़ल से इंतजार किसका है
Shweta Soni
गुरु तेग बहादुर जी जन्म दिवस
गुरु तेग बहादुर जी जन्म दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरे हमदर्द मेरे हमराह, बने हो जब से तुम मेरे
मेरे हमदर्द मेरे हमराह, बने हो जब से तुम मेरे
gurudeenverma198
■ घिसे-पिटे रिकॉर्ड...
■ घिसे-पिटे रिकॉर्ड...
*Author प्रणय प्रभात*
डारा-मिरी
डारा-मिरी
Dr. Kishan tandon kranti
अगर मैं अपनी बात कहूँ
अगर मैं अपनी बात कहूँ
ruby kumari
हिन्दी पर विचार
हिन्दी पर विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
गम के पीछे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
गम के पीछे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता के पदचिह्न (कविता)
पिता के पदचिह्न (कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
Bachpan , ek umar nahi hai,
Bachpan , ek umar nahi hai,
Sakshi Tripathi
ये   दुनिया  है  एक  पहेली
ये दुनिया है एक पहेली
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
💐प्रेम कौतुक-250💐
💐प्रेम कौतुक-250💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
औकात
औकात
Dr.Priya Soni Khare
कोई किसी के लिए जरुरी नहीं होता मुर्शद ,
कोई किसी के लिए जरुरी नहीं होता मुर्शद ,
शेखर सिंह
23/55.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/55.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
निर्मोही हो तुम
निर्मोही हो तुम
A🇨🇭maanush
क्यों खफा है वो मुझसे क्यों भला नाराज़ हैं
क्यों खफा है वो मुझसे क्यों भला नाराज़ हैं
VINOD CHAUHAN
माँ महागौरी है नमन
माँ महागौरी है नमन
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
करगिल के वीर
करगिल के वीर
Shaily
नौ वर्ष(नव वर्ष)
नौ वर्ष(नव वर्ष)
Satish Srijan
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
पंकज प्रियम
बिना बकरे वाली ईद आप सबको मुबारक़ हो।
बिना बकरे वाली ईद आप सबको मुबारक़ हो।
Artist Sudhir Singh (सुधीरा)
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
Ravi Prakash
विचार और भाव-1
विचार और भाव-1
कवि रमेशराज
Loading...