Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Dec 2023 · 1 min read

जीवन का एक चरण

जीवन का एक चरण
जीवन में एक चरण आता है,जब सब कुछ खिलाफ होता है,जितनी मेहनत करो,उतना ही उल्टा होता है।
रिश्ते टूट जाते हैं,दोस्त दूर हो जाते हैं,
वक्त साथ नहीं देता है,हालात बदल जाते हैं।
ऐसे में मन करता है,सब कुछ छोड़ दे,
लेकिन अगर तुम रुक गए,तो फिर कभी सफल नहीं हो पाओगे।
इसलिए इस चरण में,घिसते रहो,हार मत मानो,
लगातार कोशिश करते रहो।
क्योंकि जो इस चरण को पार कर जाता है,
उसे सफलता जरूर मिलती है,यह तो पक्का है,
लेकिन जीवन में एक या दो चरण ऐसे जरूर आएंगे,
जब लगेगा,नहीं होगा या हो रहा।

203 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🙏🙏 अज्ञानी की कलम 🙏🙏
🙏🙏 अज्ञानी की कलम 🙏🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ख़त्म होने जैसा
ख़त्म होने जैसा
Sangeeta Beniwal
आंख से गिरे हुए आंसू,
आंख से गिरे हुए आंसू,
नेताम आर सी
*मिला है जिंदगी में जो, प्रभो आभार है तेरा (मुक्तक)*
*मिला है जिंदगी में जो, प्रभो आभार है तेरा (मुक्तक)*
Ravi Prakash
चंद्रयान-3
चंद्रयान-3
Mukesh Kumar Sonkar
💐प्रेम कौतुक-183💐
💐प्रेम कौतुक-183💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
दिमाग नहीं बस तकल्लुफ चाहिए
Pankaj Sen
बस नेक इंसान का नाम
बस नेक इंसान का नाम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अलसाई शाम और तुमसे मोहब्बत करने की आज़ादी में खुद को ढूँढना
अलसाई शाम और तुमसे मोहब्बत करने की आज़ादी में खुद को ढूँढना
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
If you get tired, learn to rest. Not to Quit.
If you get tired, learn to rest. Not to Quit.
पूर्वार्थ
कोई ऐसा बोलता है की दिल में उतर जाता है
कोई ऐसा बोलता है की दिल में उतर जाता है
कवि दीपक बवेजा
बुक समीक्षा
बुक समीक्षा
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
दुआ
दुआ
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
भारत मे तीन चीजें हमेशा शक के घेरे मे रहतीं है
भारत मे तीन चीजें हमेशा शक के घेरे मे रहतीं है
शेखर सिंह
पतझड़ से बसंत तक
पतझड़ से बसंत तक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आईना
आईना
Dr Parveen Thakur
चेहरे की तलाश
चेहरे की तलाश
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
भरे हृदय में पीर
भरे हृदय में पीर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
मा भारती को नमन
मा भारती को नमन
Bodhisatva kastooriya
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
3209.*पूर्णिका*
3209.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लिखते हैं कई बार
लिखते हैं कई बार
Shweta Soni
बेड़ियाँ
बेड़ियाँ
Shaily
अधूरी मोहब्बत की कशिश में है...!!!!
अधूरी मोहब्बत की कशिश में है...!!!!
Jyoti Khari
.....★.....
.....★.....
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
मनुष्य
मनुष्य
Sanjay ' शून्य'
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आखिर क्या है दुनिया
आखिर क्या है दुनिया
Dr. Kishan tandon kranti
शुभ संकेत जग ज़हान भारती🙏
शुभ संकेत जग ज़हान भारती🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हाशिए के लोग
हाशिए के लोग
Shekhar Chandra Mitra
Loading...