Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Oct 2022 · 2 min read

जीएं हर पल को

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग जीना ही भूल गए हैं, हर व्यक्ति अपने कल को संवारने की जद्दोजहद में ऐसा लगा हुआ है कि आज को ही भूल गया है। स्थिति यह है कि आज उसके पास अपनों के लिए ही नहीं बल्कि स्वयं के लिए भी समय का अभाव है। जिसके कारण उसका स्वास्थ्य ही नहीं बल्कि सामाजिक जीवन भी प्रभावित हो रहा है जो किसी भी रूप में उचित नहीं। आगामी कल के लिए आज को नजरअंदाज करना केवल मूर्खता के अतिरिक्त और कुछ भी नहीं, क्योंकि कोई नहीं जानता कि आने वाला कल कैसा होगा, इसलिए बहुत जरूरी है कि हम आज को और अभी को जीना सीखें हर पल को यादगार बना दें, जिंदगी के हर पल की पूरी शिद्दत से जीने की कोशिश करें क्योंकि गया हुआ वक्त जिंदगी में लौट कर कभी वापिस नहीं आता, संयमित जीवन जीने के लिए समय को विशेष महत्व प्रदान करें, हर कार्य को आपका समय पर करने का स्वभाव आपके जीवन को जहां सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंचायेगा वहीं आपके अपनों के लिए भी आपके पास समय का अभाव नहीं रखेगा।
इसके साथ इस बात का भी विशेष ध्यान रखें कि काम उतना ही करें जितना आपका शरीर उसकी इजाजत दे । स्वास्थ्य है। तो आप हैं और स्वास्थ्य का सीधा संबंध जिंदगी से है और कोई काम जिंदगी से बढ़कर कभी नहीं होता, इस बात का सदैव स्मरण रखें। जिंदगी में खुशियां हो उसके लिए अपने का होना बहुत आवश्यक है इसीलिए पूरा प्रयास करें कि आप अपने, अपनों के साथ खुशी का कोई लम्हा भी न गवां पायें। खुश रहें और दूसरों को भी खुश रखें। ऐसा करके आप स्वयं खूबसूरत ही नजर नहीं आएंगे बल्कि आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा आपका सार्थक जीवन दूसरों के लिए प्रेरणा का स्रोत बने इसके लिए अपनी जिंदगी की अहमियत को समझते हुए उसके हर पल को पूरे दिल से और सबको साथ लेकर जीने का सफल प्रयास करें।

डॉ. फौजिया नसीम ‘शाद’

Language: Hindi
Tag: लेख
15 Likes · 1 Comment · 197 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
अन्हारक दीप
अन्हारक दीप
Acharya Rama Nand Mandal
शायरी - ग़ज़ल - संदीप ठाकुर
शायरी - ग़ज़ल - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
जीवन का हर वो पहलु सरल है
जीवन का हर वो पहलु सरल है
'अशांत' शेखर
"जागो"
Dr. Kishan tandon kranti
गुलाब के अलग हो जाने पर
गुलाब के अलग हो जाने पर
ruby kumari
ढोंगी बाबा
ढोंगी बाबा
Kanchan Khanna
ख़्याल रखें
ख़्याल रखें
Dr fauzia Naseem shad
दिव्य ज्ञान~
दिव्य ज्ञान~
दिनेश एल० "जैहिंद"
💐Prodigy Love-17💐
💐Prodigy Love-17💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जज़्बात
जज़्बात
Neeraj Agarwal
गजब गांव
गजब गांव
Sanjay ' शून्य'
जुल्मतों के दौर में
जुल्मतों के दौर में
Shekhar Chandra Mitra
3254.*पूर्णिका*
3254.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
The blue sky !
The blue sky !
Buddha Prakash
पागल मन कहां सुख पाय ?
पागल मन कहां सुख पाय ?
goutam shaw
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
https://youtube.com/@pratibhaprkash?si=WX_l35pU19NGJ_TX
Dr.Pratibha Prakash
"परीक्षा के भूत "
Yogendra Chaturwedi
मैं तो महज संसार हूँ
मैं तो महज संसार हूँ
VINOD CHAUHAN
तुम्हारे
तुम्हारे
हिमांशु Kulshrestha
जरूरी नहीं की हर जख़्म खंजर ही दे
जरूरी नहीं की हर जख़्म खंजर ही दे
Gouri tiwari
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
The_dk_poetry
मै अपवाद कवि अभी जीवित हूं
मै अपवाद कवि अभी जीवित हूं
प्रेमदास वसु सुरेखा
मुझ को इतना बता दे,
मुझ को इतना बता दे,
Shutisha Rajput
जिंदगी एडजस्टमेंट से ही चलती है / Vishnu Nagar
जिंदगी एडजस्टमेंट से ही चलती है / Vishnu Nagar
Dr MusafiR BaithA
दाता तुमने जो दिया ,कोटि - कोटि उपकार
दाता तुमने जो दिया ,कोटि - कोटि उपकार
Ravi Prakash
विश्वास
विश्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हाइकु .....चाय
हाइकु .....चाय
sushil sarna
■ सीधी बात, नो बकवास...
■ सीधी बात, नो बकवास...
*Author प्रणय प्रभात*
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
" लक्ष्य सिर्फ परमात्मा ही हैं। "
Aryan Raj
Loading...