Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 30, 2022 · 1 min read

ज़िक्र तेरा

ज़िक्र तेरा ही खुद महकता है ।
तेरी तारीफ़ हम नहीं करते ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद
(बदायूंनी)

5 Likes · 50 Views
You may also like:
विश्व जनसंख्या दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️ज़ख्मो का स्वाद✍️
'अशांत' शेखर
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
ग़ज़ल-ये चेहरा तो नूरानी है
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
होली
AMRESH KUMAR VERMA
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
*पंडित ज्वाला प्रसाद मिश्र और आर्य समाज-सनातन धर्म का विवाद*
Ravi Prakash
बुंदेली दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
ऐ जिंदगी।
Taj Mohammad
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
सब अपने नसीबों का
Dr fauzia Naseem shad
गमों के समंदर में।
Taj Mohammad
ढूढ़ा जाऊंगा
सिद्धार्थ गोरखपुरी
बहुजन की भारत माता
Shekhar Chandra Mitra
एक पते की बात
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बीवी हो तो ऐसी... !!
Rakesh Bahanwal
पुस्तक समीक्षा -'जन्मदिन'
Rashmi Sanjay
✍️मी फिनिक्स...!✍️
'अशांत' शेखर
कुछ ना रहा
Nitu Sah
खुदा ने जो दे दिया।
Taj Mohammad
" जंगल की दुनिया "
Dr Meenu Poonia
तुम मुझे
Dr fauzia Naseem shad
✍️न जाने वो कौन से गुनाहों की सज़ा दे रहा...
Vaishnavi Gupta
क्या मेरी कलाई सूनी रहेगी ?
Kumar Anu Ojha
तेरी यादें मुझे सोने नहीं देती
Ram Krishan Rastogi
नन्हीं बाल-कविताएँ
Kanchan Khanna
अमर कोंच-इतिहास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ज़माना कहता है हर बात ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
Loading...