Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Apr 2024 · 1 min read

जहाँ खुदा है

जहाँ खुदा है
वही भगवान है
यकीन नहीं है तो देखलो जाकर

49 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कभी कभी हम हैरान परेशान नहीं होते हैं बल्कि
कभी कभी हम हैरान परेशान नहीं होते हैं बल्कि
Sonam Puneet Dubey
नारी का अस्तित्व
नारी का अस्तित्व
रेखा कापसे
🌸प्रकृति 🌸
🌸प्रकृति 🌸
Mahima shukla
*सुबह-सुबह अच्छा लगता है, रोजाना अखबार (गीत)*
*सुबह-सुबह अच्छा लगता है, रोजाना अखबार (गीत)*
Ravi Prakash
A Little Pep Talk
A Little Pep Talk
Ahtesham Ahmad
बंदिशें
बंदिशें
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ना धर्म पर ना जात पर,
ना धर्म पर ना जात पर,
Gouri tiwari
2944.*पूर्णिका*
2944.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Ye chad adhura lagta hai,
Ye chad adhura lagta hai,
Sakshi Tripathi
प्रेम की गहराई
प्रेम की गहराई
Dr Mukesh 'Aseemit'
कोई चाहे तो पता पाए, मेरे दिल का भी
कोई चाहे तो पता पाए, मेरे दिल का भी
Shweta Soni
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एकांत मन
एकांत मन
TARAN VERMA
बेटियाँ
बेटियाँ
Mamta Rani
अधिकांश लोगों के शब्द
अधिकांश लोगों के शब्द
*प्रणय प्रभात*
सच
सच
Neeraj Agarwal
आपकी आहुति और देशहित
आपकी आहुति और देशहित
Mahender Singh
दिखाओ लार मनैं मेळो, ओ मारा प्यारा बालम जी
दिखाओ लार मनैं मेळो, ओ मारा प्यारा बालम जी
gurudeenverma198
सताया ना कर ये जिंदगी
सताया ना कर ये जिंदगी
Rituraj shivem verma
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
Rita Singh
फुर्सत से आईने में जब तेरा दीदार किया।
फुर्सत से आईने में जब तेरा दीदार किया।
Phool gufran
एक
एक
हिमांशु Kulshrestha
*जीवन्त*
*जीवन्त*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सफर की यादें
सफर की यादें
Pratibha Pandey
नेता
नेता
surenderpal vaidya
इंतजार बाकी है
इंतजार बाकी है
शिवम राव मणि
तू है तो फिर क्या कमी है
तू है तो फिर क्या कमी है
Surinder blackpen
क्या देखा
क्या देखा
Ajay Mishra
सुस्त हवाओं की उदासी, दिल को भारी कर जाती है।
सुस्त हवाओं की उदासी, दिल को भारी कर जाती है।
Manisha Manjari
लिखा भाग्य में रहा है होकर,
लिखा भाग्य में रहा है होकर,
पूर्वार्थ
Loading...