Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jan 2023 · 1 min read

घर के किसी कोने में

घर के किसी कोने में
रोते रहना
और कोई आपको देखने तक ना आए
दुःखद है
लेकिन
उससे ज्यादा पीड़ादायी है
रोने के लिए किसी कोने का न मिलना।

Language: Hindi
15 Likes · 3 Comments · 149 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
देखकर प्यारा सवेरा
देखकर प्यारा सवेरा
surenderpal vaidya
मेरे पास, तेरे हर सवाल का जवाब है
मेरे पास, तेरे हर सवाल का जवाब है
Bhupendra Rawat
जाति-धर्म में सब बटे,
जाति-धर्म में सब बटे,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मृत्यु संबंध की
मृत्यु संबंध की
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भीनी भीनी आ रही सुवास है।
भीनी भीनी आ रही सुवास है।
Omee Bhargava
कलमबाज
कलमबाज
Mangilal 713
#सामयिक_गीत :-
#सामयिक_गीत :-
*प्रणय प्रभात*
ग़ज़ल/नज़्म - प्यार के ख्वाबों को दिल में सजा लूँ तो क्या हो
ग़ज़ल/नज़्म - प्यार के ख्वाबों को दिल में सजा लूँ तो क्या हो
अनिल कुमार
*रहते परहित जो सदा, सौ-सौ उन्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
*रहते परहित जो सदा, सौ-सौ उन्हें प्रणाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
हर रात की
हर रात की "स्याही"  एक सराय है
Atul "Krishn"
गांव
गांव
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
शेखर सिंह
जनमदिन तुम्हारा !!
जनमदिन तुम्हारा !!
Dhriti Mishra
*
*"माँ महागौरी"*
Shashi kala vyas
अंतरंग प्रेम
अंतरंग प्रेम
Paras Nath Jha
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सितारा
सितारा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Jo Apna Nahin 💔💔
Jo Apna Nahin 💔💔
Yash mehra
हंसगति
हंसगति
डॉ.सीमा अग्रवाल
टूटेगा एतबार
टूटेगा एतबार
Dr fauzia Naseem shad
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
लोभी चाटे पापी के गाँ... कहावत / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
उफ़ ये बेटियाँ
उफ़ ये बेटियाँ
SHAMA PARVEEN
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
अगर आप में व्यर्थ का अहंकार है परन्तु इंसानियत नहीं है; तो म
विमला महरिया मौज
गुरुकुल भारत
गुरुकुल भारत
Sanjay ' शून्य'
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
Otteri Selvakumar
2848.*पूर्णिका*
2848.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
परतंत्रता की नारी
परतंत्रता की नारी
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"चाँद बीबी"
Dr. Kishan tandon kranti
सच तो लकड़ी का महत्व होता हैं।
सच तो लकड़ी का महत्व होता हैं।
Neeraj Agarwal
वक्त मिलता नही,निकलना पड़ता है,वक्त देने के लिए।
वक्त मिलता नही,निकलना पड़ता है,वक्त देने के लिए।
पूर्वार्थ
Loading...