Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2018 · 1 min read

गीत

विरह गीत

साँझ-सवेरे खग का कलरव
मुझको बहुत रुलाता है,
भीगी पलकें सागर का तट
तेरी याद दिलाता है।

तुम बहार मेरे जीवन की
मन में चित्रित परिभाषा
उर की सुंदर मधुशाला हो
लब पर मुखरित अभिलाषा।

धानी चूनर कंगन देखूँ-
झूला रास न आता है।
तेरी याद दिलाता है।।

तेरे यौवन के जादू से
मेरी नज़रें बहकी थींं
तेरे गजरे की खुशबू से
मेरी रातें महकी थीं।

बूँदों की रुनझुन सरगम पर-
सावन गीत सुनाता है।
तेरी याद दिलाता है।।

राह देखते तेरी मैंने
हर पल दीप जलाए हैं
भाव शब्द में गूँथ-गूँथ कर
कितने गीत बनाए हैं।

खुद से कब तक बात करूँ मैं-
मन मेरा घबराता है।
तेरी याद दिलाता है।।

डॉ. रजनी अग्रवाल ‘वाग्देवी रत्ना’
महमूरगंज, वाराणसी।(उ.प्र.)
संपादिका-साहित्य धरोहर

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 277 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ. रजनी अग्रवाल 'वाग्देवी रत्ना'
View all
You may also like:
*गुरु (बाल कविता)*
*गुरु (बाल कविता)*
Ravi Prakash
कौशल
कौशल
Dinesh Kumar Gangwar
वफ़ा और बेवफाई
वफ़ा और बेवफाई
हिमांशु Kulshrestha
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मैं भी क्यों रखूं मतलब उनसे
मैं भी क्यों रखूं मतलब उनसे
gurudeenverma198
सरकार हैं हम
सरकार हैं हम
pravin sharma
ऋतु परिवर्तन
ऋतु परिवर्तन
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सब्र का फल
सब्र का फल
Bodhisatva kastooriya
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
ईश्वर की कृपा दृष्टि व बड़े बुजुर्ग के आशीर्वाद स्वजनों की द
Shashi kala vyas
*पर्यावरण दिवस * *
*पर्यावरण दिवस * *
Dr Mukesh 'Aseemit'
कलम की वेदना (गीत)
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
जिंदगी की फितरत
जिंदगी की फितरत
Amit Pathak
The Day I Wore My Mother's Saree!
The Day I Wore My Mother's Saree!
R. H. SRIDEVI
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
shabina. Naaz
मन की डायरी
मन की डायरी
Surinder blackpen
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन देने के दांत / MUSAFIR BAITHA
जीवन देने के दांत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
सोचके बत्तिहर बुत्ताएल लोकके व्यवहार अंधा होइछ, ढल-फुँनगी पर
सोचके बत्तिहर बुत्ताएल लोकके व्यवहार अंधा होइछ, ढल-फुँनगी पर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
वो अजनबी झोंका
वो अजनबी झोंका
Shyam Sundar Subramanian
बोट डालणा फरज निभाणा -अरविंद भारद्वाज
बोट डालणा फरज निभाणा -अरविंद भारद्वाज
अरविंद भारद्वाज
लड़ो लड़ाई दीन की
लड़ो लड़ाई दीन की
विनोद सिल्ला
जीत रही है जंग शांति की हार हो रही।
जीत रही है जंग शांति की हार हो रही।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
*Hey You*
*Hey You*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ग़ज़ल(इश्क में घुल गयी वो ,डली ज़िन्दगी --)
ग़ज़ल(इश्क में घुल गयी वो ,डली ज़िन्दगी --)
डॉक्टर रागिनी
"प्रेम"
Dr. Kishan tandon kranti
*Treasure the Nature*
*Treasure the Nature*
Poonam Matia
* सिला प्यार का *
* सिला प्यार का *
surenderpal vaidya
बिन बोले ही  प्यार में,
बिन बोले ही प्यार में,
sushil sarna
सबक
सबक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Loading...