Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jun 2023 · 1 min read

ख़ास विपरीत परिस्थिति में सखा

ख़ास विपरीत परिस्थिति में सखा
सखा विपरीत परिस्थिति में ख़ास होता है
यूँही नहीं ख़ास का उल्टा सखा और सखा का उल्टा ख़ास होता है
– सिद्धार्थ गोरखपुरी

2 Likes · 571 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
... बीते लम्हे
... बीते लम्हे
Naushaba Suriya
"प्रीत की डोर”
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गुरुकुल शिक्षा पद्धति
गुरुकुल शिक्षा पद्धति
विजय कुमार अग्रवाल
चाय की घूंट और तुम्हारी गली
चाय की घूंट और तुम्हारी गली
Aman Kumar Holy
‼ ** सालते जज़्बात ** ‼
‼ ** सालते जज़्बात ** ‼
Dr Manju Saini
नवयौवना
नवयौवना
लक्ष्मी सिंह
*हे महादेव आप दया के सागर है मैं विनती करती हूं कि मुझे क्षम
*हे महादेव आप दया के सागर है मैं विनती करती हूं कि मुझे क्षम
Shashi kala vyas
*** हम दो राही....!!! ***
*** हम दो राही....!!! ***
VEDANTA PATEL
ज़िंदगी के सारे पृष्ठ
ज़िंदगी के सारे पृष्ठ
Ranjana Verma
*ऐसा युग भी आएगा*
*ऐसा युग भी आएगा*
Harminder Kaur
शिक्षा और संस्कार जीवंत जीवन के
शिक्षा और संस्कार जीवंत जीवन के
Neelam Sharma
गठबंधन INDIA
गठबंधन INDIA
Bodhisatva kastooriya
(8) मैं और तुम (शून्य- सृष्टि )
(8) मैं और तुम (शून्य- सृष्टि )
Kishore Nigam
मुहब्बत
मुहब्बत
बादल & बारिश
यह प्यार झूठा है
यह प्यार झूठा है
gurudeenverma198
जनक छन्द के भेद
जनक छन्द के भेद
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बुंदेली दोहा- चिलकत
बुंदेली दोहा- चिलकत
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ज़िंदगी के मर्म
ज़िंदगी के मर्म
Shyam Sundar Subramanian
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️☁️🌄🌥️
वीर वैभव श्रृंगार हिमालय🏔️☁️🌄🌥️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
हसीब सोज़... बस याद बाक़ी है
अरशद रसूल बदायूंनी
सबका वह शिकार है, सब उसके ही शिकार हैं…
सबका वह शिकार है, सब उसके ही शिकार हैं…
Anand Kumar
सासूमां का मिजाज
सासूमां का मिजाज
Seema gupta,Alwar
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
आकांक्षा तारे टिमटिमाते ( उल्का )
goutam shaw
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
😊 सियासी शेखचिल्ली😊
*Author प्रणय प्रभात*
"भूल गए हम"
Dr. Kishan tandon kranti
ग़ज़ल संग्रह 'तसव्वुर'
ग़ज़ल संग्रह 'तसव्वुर'
Anis Shah
बच्चों के पिता
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
दिल तोड़ना ,
दिल तोड़ना ,
Buddha Prakash
कुछ मत कहो
कुछ मत कहो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
*मॉंगता सबसे क्षमा, रिपु-वृत्ति का अवसान हो (मुक्तक)*
*मॉंगता सबसे क्षमा, रिपु-वृत्ति का अवसान हो (मुक्तक)*
Ravi Prakash
Loading...