Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2022 · 1 min read

कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार

10

कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
चले गए तुम तोड़ कर, मन वीणा के तार

देख तुम्हारे प्यार को, मैं तो थी हैरान
इक दूजे में बस गई, जैसे अपनी जान
जब अपना बसने लगा, एक नया संसार
चले गए तुम तोड़कर, मन वीणा के तार

सोचा था इक घर बना, सदा रहेंगे साथ
कितनी आएँ मुश्किलें, ना छोड़ेंगे हाथ
जब सपने लेने लगे , सुंदर सा आकार
चले गए तुम तोड़कर, मन वीणा के तार

तन्हाई का ये सफ़र, नहीं रहा आसान
यादों का भी साथ में, कितना।कुछ सामान
आँखों से बहती रहे, बस अँसुवन की धार
चले गए तुम तोड़कर, मन वीणा के तार

तुम से होकर दूर मैं, ढूँढ रही पहचान
टूटे रिश्तों को यहाँ ,कब मिलता सम्मान
जीवन राहों में बिछे, नागफनी से खार
चले गए तुम तोड़कर, मन वीणा के तार

31-08-2022
डॉ अर्चना गुप्ता

8 Likes · 7 Comments · 968 Views
You may also like:
*पूजा का थाल (छह दोहे)*
Ravi Prakash
कबीर की आग
Shekhar Chandra Mitra
◆संसारस्य संयोगः अनित्यं च वियोगः नित्य च ◆
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"सुकून की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
इश्क करते रहिए
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
" पर्व गोर्वधन "
Dr Meenu Poonia
मिलखा सिंह दोहा एकादशी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेरे दिल
shabina. Naaz
बेवफा अपनों के लिए/Bewfa apno ke liye
Shivraj Anand
खोपक पेरवा (लोकमैथिली_कविता)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
न कोई चाहत
Ray's Gupta
अग्नि पथ के अग्निवीर
Anamika Singh
मजदूर की रोटी
AMRESH KUMAR VERMA
समझे ये हमको
Dr fauzia Naseem shad
“ মাছ ভেল জঞ্জাল ”
DrLakshman Jha Parimal
परिणति
Shyam Sundar Subramanian
काश उसने तुझे चिड़ियों जैसा पाला होता।
Manisha Manjari
हाँ, अब मैं ऐसा ही हूँ
gurudeenverma198
शांति अमृत
Buddha Prakash
कभी मिलोगी तब सुनाऊँगा
मुन्ना मासूम
🚩सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️आओ गुल गुलज़ार वतन करे✍️
'अशांत' शेखर
✍️One liner quotes✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
क्यों बात करते हो.......
J_Kay Chhonkar
हर रोज में पढ़ता हूं
Sushil chauhan
बिल्ली हारी
Jatashankar Prajapati
बस तुम को चाहते हैं।
Taj Mohammad
तेरा मेरा नाता
Alok Saxena
एक घर।
Anil Mishra Prahari
'बेवजह'
Godambari Negi
Loading...