Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2022 · 1 min read

कितनी बार लड़ हम गए

कितनी बार लड़ हम गए, हो गए लड़कर भी एक हम।
यही है सच में सच्चा प्यार, ना कभी हो यह प्यार कम।।
कितनी बार लड़ हम गए ———————-।।

हम अगर हो कभी दूर भी, भूले नहीं हम अपना मिलन।
एक दूसरे को खत हम लिखे, कभी बेखबर रहे नहीं हम।।
कितनी बार लड़ हम गए——————।।

तुम्हारा दर्द मेरा दर्द है, तुम्हारी खुशी है मेरी खुशी।
मजबूरी समझे एक दूसरे की, एक दूसरे पर हो रहम।।
कितनी बार लड़ हम गए—————-।।

कुछ भी कहे यह दुनिया वाले, देखकर यह प्यार अपना।
हमको नहीं हो शक हम पर, ना हो विश्वास अपना कम।।
कितनी बार लड़ हम गए—————-।।

नहीं चाहिए तुम्हारी दौलत, साथ सदा चाहिए तुम्हारा।
हाथ कभी यह नहीं छूटे, तोड़े नहीं यह रिश्ता हम।।
कितनी बार लड़ हम गए—————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार –
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)
मोबाईल नम्बर- 9571070847

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 1 Comment · 186 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" महक संदली "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
23/194. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/194. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
डर के आगे जीत है
डर के आगे जीत है
Dr. Pradeep Kumar Sharma
देव उठनी एकादशी/
देव उठनी एकादशी/
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*गंगा उतरीं स्वर्ग से,भागीरथ की आस (कुंडलिया)*
*गंगा उतरीं स्वर्ग से,भागीरथ की आस (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
उपदेशों ही मूर्खाणां प्रकोपेच न च शांतय्
उपदेशों ही मूर्खाणां प्रकोपेच न च शांतय्
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
गजल
गजल
Vijay kumar Pandey
दीवाली
दीवाली
Mukesh Kumar Sonkar
मुफलिसो और बेकशों की शान में मेरा ईमान बोलेगा।
मुफलिसो और बेकशों की शान में मेरा ईमान बोलेगा।
Phool gufran
* कुण्डलिया *
* कुण्डलिया *
surenderpal vaidya
सेहत बढ़ी चीज़ है (तंदरुस्ती हज़ार नेमत )
सेहत बढ़ी चीज़ है (तंदरुस्ती हज़ार नेमत )
shabina. Naaz
👣चरण, 🦶पग,पांव🦵 पंजा 🐾
👣चरण, 🦶पग,पांव🦵 पंजा 🐾
डॉ० रोहित कौशिक
అతి బలవంత హనుమంత
అతి బలవంత హనుమంత
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
!! नफरत सी है मुझे !!
!! नफरत सी है मुझे !!
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"लाल गुलाब"
Dr. Kishan tandon kranti
मेरा सोमवार
मेरा सोमवार
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
प्रेम की चाहा
प्रेम की चाहा
RAKESH RAKESH
A setback is,
A setback is,
Dhriti Mishra
✍️पर्दा-ताक हुवा नहीं✍️
✍️पर्दा-ताक हुवा नहीं✍️
'अशांत' शेखर
तुम्हें
तुम्हें
Dr.Pratibha Prakash
11, मेरा वजूद
11, मेरा वजूद
Dr Shweta sood
■ मुद्दा / पूछे जनता जनार्दन...!!
■ मुद्दा / पूछे जनता जनार्दन...!!
*Author प्रणय प्रभात*
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
The_dk_poetry
जीवन के आधार पिता
जीवन के आधार पिता
Kavita Chouhan
बड़ी मंजिलों का मुसाफिर अगर तू
बड़ी मंजिलों का मुसाफिर अगर तू
Satish Srijan
मोहब्बत का इंतज़ार
मोहब्बत का इंतज़ार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जीवन और जिंदगी में लकड़ियां ही
जीवन और जिंदगी में लकड़ियां ही
Neeraj Agarwal
दो दिन
दो दिन
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
भूख
भूख
Sushil chauhan
👨‍🎓मेरा खाली मटका माइंड
👨‍🎓मेरा खाली मटका माइंड
Ms.Ankit Halke jha
Loading...