Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jul 2023 · 1 min read

कान्हा भजन

पावन तेरे चरण , पावन तेरी छवि कान्हा
आ गया हूँ तेरे चरणों में , अपना बना लो कान्हा

भक्ति रस में डूबकर , निखर जाऊँ मैं
चरणों में मुझे रख लो , अपना शागिर्द बना लो कान्हा

तेरी सूरत तेरी छवि पर , मोहित हो गया हूँ मैं
अपनी भक्ति के रंग में रंग दो , सुदामा समझ के कान्हा

ग्वालनें सभी आशिक हुईं , मोहक छवि पर तेरी
एक बार वंशी बजा दो , ग्वालों के प्यारे कान्हा

आशिकी में तेरी हम हुए , कुछ इस तरह घायल
इक बार तो सबको , दरश दिखा दो कान्हा

जी रहे हैं सभी प्राणी , इक आस में तेरी
कृपा बरसा दो सब पर , नन्द के दुलारे कान्हा

कोई कहे कृष्ण तुझको , कोई कहे कन्हैया
भक्तों के प्यारे सखा तुम , पार लगा दो नैया

खेवनहार हो तुम , प्रजापालक हो सभी के
पार लगा दो जीवन नैया , मोक्ष राह दिखाओ कान्हा

पावन तेरे चरण , पावन तेरी छवि कान्हा
आ गया हूँ तेरे चरणों में , अपना बना लो कान्हा

भक्ति रस में डूबकर , निखर जाऊँ मैं
चरणों में मुझे रख लो , अपना शागिर्द बना लो कान्हा

1 Like · 149 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मुझे आज तक ये समझ में न आया
मुझे आज तक ये समझ में न आया
Shweta Soni
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
संवादरहित मित्रों से जुड़ना मुझे भाता नहीं,
संवादरहित मित्रों से जुड़ना मुझे भाता नहीं,
DrLakshman Jha Parimal
हर वर्ष जला रहे हम रावण
हर वर्ष जला रहे हम रावण
Dr Manju Saini
Environment
Environment
Neelam Sharma
🌹मेरी इश्क सल्तनत 🌹
🌹मेरी इश्क सल्तनत 🌹
साहित्य गौरव
वर्तमान
वर्तमान
Shyam Sundar Subramanian
रंगों में भी
रंगों में भी
हिमांशु Kulshrestha
फितरत न कभी सीखा
फितरत न कभी सीखा
Satish Srijan
वक्त
वक्त
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दस्तक भूली राह दरवाजा
दस्तक भूली राह दरवाजा
Suryakant Dwivedi
तुम होते हो नाराज़ तो,अब यह नहीं करेंगे
तुम होते हो नाराज़ तो,अब यह नहीं करेंगे
gurudeenverma198
वैसे अपने अपने विचार है
वैसे अपने अपने विचार है
शेखर सिंह
অরাজক সহিংসতা
অরাজক সহিংসতা
Otteri Selvakumar
2983.*पूर्णिका*
2983.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आई होली आई होली
आई होली आई होली
VINOD CHAUHAN
हमसे तुम वजनदार हो तो क्या हुआ,
हमसे तुम वजनदार हो तो क्या हुआ,
Umender kumar
"सेहत का राज"
Dr. Kishan tandon kranti
कुछ तेज हवाएं है, कुछ बर्फानी गलन!
कुछ तेज हवाएं है, कुछ बर्फानी गलन!
Bodhisatva kastooriya
थी हवा ख़ुश्क पर नहीं सूखे - संदीप ठाकुर
थी हवा ख़ुश्क पर नहीं सूखे - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
लर्जिश बड़ी है जुबान -ए -मोहब्बत में अब तो
लर्जिश बड़ी है जुबान -ए -मोहब्बत में अब तो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
प्रेम.......................................................
प्रेम.......................................................
Swara Kumari arya
"पुरानी तस्वीरें"
Lohit Tamta
गलतियों को स्वीकार कर सुधार कर लेना ही सर्वोत्तम विकल्प है।
गलतियों को स्वीकार कर सुधार कर लेना ही सर्वोत्तम विकल्प है।
Paras Nath Jha
☝विशेष दिन : अनूठा_उपाय....
☝विशेष दिन : अनूठा_उपाय....
*प्रणय प्रभात*
" सब किमे बदलग्या "
Dr Meenu Poonia
Sometimes you don't fall in love with the person, you fall f
Sometimes you don't fall in love with the person, you fall f
पूर्वार्थ
ବିଶ୍ୱାସରେ ବିଷ
ବିଶ୍ୱାସରେ ବିଷ
Bidyadhar Mantry
"किसान का दर्द"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Loading...