Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 May 2024 · 1 min read

क़ाफ़िया तुकांत -आर

क़ाफ़िया तुकांत -आर
रद़ीफ पदांत -हुआ तो कैसे

शिक्षित होकर भी बेरोजगार हुआ तो कैसे
शिक्षा और ज्ञान का व्यापार हुआ तो कैसे।

वक्त के साथ बदले रिश्ते और मर्यादा…
बदली फ़िजा बदला व्यवहार हुआ तो कैसे।

दान- धर्म-कर्म से मिलता पुण्य कमाना..
लेना -देना भी अब बाज़ार हुआ तो कैसे।

दर- दर मन्नतें मांगी औलाद की खातिर
मां-बाप को रखना फिर भार हुआ तो कैसे।

जिम्मेदारी पूरी की ताउम्र जिसने ‘योगी ‘
उम्र के इस पायदान पर बेकार हुआ तो कैसे।

योगमाया शर्मा “योगी ”
कोटा राजस्थान

36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अधूरी ख्वाहिशें
अधूरी ख्वाहिशें
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
सुनो पहाड़ की...!!! (भाग - ९)
Kanchan Khanna
23/22.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/22.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कुछ हकीकत कुछ फसाना और कुछ दुश्वारियां।
कुछ हकीकत कुछ फसाना और कुछ दुश्वारियां।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
बड़ा गहरा रिश्ता है जनाब
बड़ा गहरा रिश्ता है जनाब
शेखर सिंह
तुम अगर कविता बनो तो, गीत मैं बन जाऊंगा।
तुम अगर कविता बनो तो, गीत मैं बन जाऊंगा।
जगदीश शर्मा सहज
पुण्य आत्मा
पुण्य आत्मा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
"दो कदम दूर"
Dr. Kishan tandon kranti
सत्य यह भी
सत्य यह भी
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
हर एक मन्जर पे नजर रखते है..
हर एक मन्जर पे नजर रखते है..
कवि दीपक बवेजा
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
Paras Nath Jha
" रहना तुम्हारे सँग "
DrLakshman Jha Parimal
ऋतु गर्मी की आ गई,
ऋतु गर्मी की आ गई,
Vedha Singh
एक अजीब कशिश तेरे रुखसार पर ।
एक अजीब कशिश तेरे रुखसार पर ।
Phool gufran
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
मेरे वतन मेरे चमन तुझपे हम कुर्बान है
gurudeenverma198
ठुकरा दिया है 'कल' ने आज मुझको
ठुकरा दिया है 'कल' ने आज मुझको
सिद्धार्थ गोरखपुरी
' जो मिलना है वह मिलना है '
' जो मिलना है वह मिलना है '
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
प्रतिशोध
प्रतिशोध
Shyam Sundar Subramanian
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
कैसे अम्बर तक जाओगे
कैसे अम्बर तक जाओगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
दिल तमन्ना कोई
दिल तमन्ना कोई
Dr fauzia Naseem shad
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
Madhuri Markandy
सगीर की ग़ज़ल
सगीर की ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
#लघुकथा / #गुस्सा
#लघुकथा / #गुस्सा
*प्रणय प्रभात*
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
ॐ शिव शंकर भोले नाथ र
Swami Ganganiya
मैं रंग बन के बहारों में बिखर जाऊंगी
मैं रंग बन के बहारों में बिखर जाऊंगी
Shweta Soni
"कोहरा रूपी कठिनाई"
Yogendra Chaturwedi
उनकी जब ये ज़ेह्न बुराई कर बैठा
उनकी जब ये ज़ेह्न बुराई कर बैठा
Anis Shah
इच्छा और परीक्षा
इच्छा और परीक्षा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
प्रेम जीवन में सार
प्रेम जीवन में सार
Dr.sima
Loading...