Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Oct 2022 · 1 min read

कळस

जो काहीसा दडपला आहे,
आतल्या विस्कळीत भावनांच्या भोवऱ्यात बुडल्यासारखा उसासा, उगवणारा,
आंतरिक संघर्षाच्या चक्रात अडकलेले,
बाह्य सहजतेच्या वेषात
चर्चेत असलेला विषय,
प्रकट आणि अप्रकट संवाद दरम्यान
त्रिशंकू बनणे,
हळूहळू आत्म-साक्षात्काराने निराश होणे
नैराश्यात बदलणे.

Language: Marathi
187 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shyam Sundar Subramanian
View all
You may also like:
बहुत जरूरी है तो मुझे खुद को ढूंढना
बहुत जरूरी है तो मुझे खुद को ढूंढना
Ranjeet kumar patre
14. आवारा
14. आवारा
Rajeev Dutta
सृजन के जन्मदिन पर
सृजन के जन्मदिन पर
Satish Srijan
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
कवि दीपक बवेजा
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
Ravi Prakash
ग़म कड़वे पर हैं दवा, पीकर करो इलाज़।
ग़म कड़वे पर हैं दवा, पीकर करो इलाज़।
आर.एस. 'प्रीतम'
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
‘‘शिक्षा में क्रान्ति’’
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
फिर एक पल भी ना लगा ये सोचने में........
shabina. Naaz
💐प्रेम कौतुक-443💐
💐प्रेम कौतुक-443💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Wishing power and expectation
Wishing power and expectation
Ankita Patel
वक्त का घुमाव तो
वक्त का घुमाव तो
Mahesh Tiwari 'Ayan'
सफल हस्ती
सफल हस्ती
Praveen Sain
Tum to kahte the sath nibhaoge , tufano me bhi
Tum to kahte the sath nibhaoge , tufano me bhi
Sakshi Tripathi
सोई गहरी नींदों में
सोई गहरी नींदों में
Anju ( Ojhal )
■ शर्म भी कर लो।
■ शर्म भी कर लो।
*Author प्रणय प्रभात*
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गायें
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गायें
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
तुम्हे याद किये बिना सो जाऊ
The_dk_poetry
कीमती
कीमती
Naushaba Suriya
"तब कोई बात है"
Dr. Kishan tandon kranti
हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा...!!!
हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा...!!!
AVINASH (Avi...) MEHRA
*हिंदी दिवस*
*हिंदी दिवस*
Atul Mishra
मैं करता हुँ उस्सें पहल तो बात हो जाती है
मैं करता हुँ उस्सें पहल तो बात हो जाती है
Sonu sugandh
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
शराब हो या इश्क़ हो बहकाना काम है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Yash Mehra
Yash Mehra
Yash mehra
वरदान
वरदान
पंकज कुमार कर्ण
*अनमोल हीरा*
*अनमोल हीरा*
Sonia Yadav
योगी है जरूरी
योगी है जरूरी
Tarang Shukla
मैं इन्सान हूं, इन्सान ही रहने दो।
मैं इन्सान हूं, इन्सान ही रहने दो।
नेताम आर सी
मन को आनंदित करे,
मन को आनंदित करे,
Rashmi Sanjay
योग
योग
लक्ष्मी सिंह
Loading...