Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Dec 2023 · 1 min read

कलियों से बनते फूल हैँ

कलियों से बनते फूल हैँ
*******************

कलियों से बनते फूल हैँ,
रक्षण में जिन के शूल हैँ।

कैसा भी चाहे मौसम हो,
काँटों में खिलते फूल है।

बाग बगीचों में हैँ फलते,
संध्या को ढलते फूल हैँ।

सुंदरी का यौवन महके,
जूड़े में सजते फूल हैँ।

मनसीरत मन को भाये,
रंगों से रंगीले फूल हैँ।
*******************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेडी राओ वाली (कैथल)

168 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
25)”हिन्दी भाषा”
25)”हिन्दी भाषा”
Sapna Arora
" जिन्दगी क्या है "
Pushpraj Anant
बे खुदी में सवाल करते हो
बे खुदी में सवाल करते हो
SHAMA PARVEEN
वेदना की संवेदना
वेदना की संवेदना
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
पढ़ने को आतुर है,
पढ़ने को आतुर है,
Mahender Singh
खोटा सिक्का
खोटा सिक्का
Mukesh Kumar Sonkar
नजर लगी हा चाँद को, फीकी पड़ी उजास।
नजर लगी हा चाँद को, फीकी पड़ी उजास।
डॉ.सीमा अग्रवाल
प्रकाश एवं तिमिर
प्रकाश एवं तिमिर
Pt. Brajesh Kumar Nayak
देश की हिन्दी
देश की हिन्दी
surenderpal vaidya
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बेटा राजदुलारा होता है?
बेटा राजदुलारा होता है?
Rekha khichi
हासिल नहीं है कुछ
हासिल नहीं है कुछ
Dr fauzia Naseem shad
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
माँ से बढ़कर नहीं है कोई
जगदीश लववंशी
कभी अंधेरे में हम साया बना हो,
कभी अंधेरे में हम साया बना हो,
goutam shaw
बेटी-पिता का रिश्ता
बेटी-पिता का रिश्ता
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
दिखता अगर फ़लक पे तो हम सोचते भी कुछ
दिखता अगर फ़लक पे तो हम सोचते भी कुछ
Shweta Soni
भावात्मक
भावात्मक
Surya Barman
Dard-e-Madhushala
Dard-e-Madhushala
Tushar Jagawat
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
प्रभु पावन कर दो मन मेरा , प्रभु पावन तन मेरा
प्रभु पावन कर दो मन मेरा , प्रभु पावन तन मेरा
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हर एक अनुभव की तर्ज पर कोई उतरे तो....
हर एक अनुभव की तर्ज पर कोई उतरे तो....
कवि दीपक बवेजा
माँ शेरावली है आनेवाली
माँ शेरावली है आनेवाली
Basant Bhagawan Roy
चंद्रयान-थ्री
चंद्रयान-थ्री
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
बरसात
बरसात
Bodhisatva kastooriya
■ भगवान भला करे वैज्ञानिकों का। 😊😊
■ भगवान भला करे वैज्ञानिकों का। 😊😊
*प्रणय प्रभात*
I love to vanish like that shooting star.
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
रक्षा में हत्या / मुसाफ़िर बैठा
रक्षा में हत्या / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
"इच्छा"
Dr. Kishan tandon kranti
****तन्हाई मार गई****
****तन्हाई मार गई****
Kavita Chouhan
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...