Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 May 2018 · 1 min read

** एतबार **

ना उम्र का एतबार है
ना जिंदगी का
मौत का फ़लसफ़ा
आहिस्ता आहिस्ता
याद आ रहा है ।।
तस्वीर पे एतबार करें
या तक़दीर पर
तस्वीरें रोज बदलती है
तक़दीर नहीं ।। मधुप बैरागी

Language: Hindi
1 Like · 350 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
"" *वाङमयं तप उच्यते* '"
सुनीलानंद महंत
हँसने-हँसाने में नहीं कोई खामी है।
हँसने-हँसाने में नहीं कोई खामी है।
लक्ष्मी सिंह
कितनी अजब गजब हैं ज़माने की हसरतें
कितनी अजब गजब हैं ज़माने की हसरतें
Dr. Alpana Suhasini
अगर मुझे तड़पाना,
अगर मुझे तड़पाना,
Dr. Man Mohan Krishna
*संस्मरण*
*संस्मरण*
Ravi Prakash
"गुमनाम जिन्दगी ”
Pushpraj Anant
हो जाएँ नसीब बाहें
हो जाएँ नसीब बाहें
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हुनर
हुनर
अखिलेश 'अखिल'
एक छोटी सी बह्र
एक छोटी सी बह्र
Neelam Sharma
"मनुष्य की प्रवृत्ति समय के साथ बदलना शुभ संकेत है कि हम इक्
डॉ कुलदीपसिंह सिसोदिया कुंदन
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
मेरा हमेशा से यह मानना रहा है कि दुनिया में ‌जितना बदलाव हमा
Rituraj shivem verma
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
समय यात्रा संभावना -एक विचार
समय यात्रा संभावना -एक विचार
Shyam Sundar Subramanian
!! गुजर जायेंगे दुःख के पल !!
!! गुजर जायेंगे दुःख के पल !!
जगदीश लववंशी
अहंकार
अहंकार
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
* वेदना का अभिलेखन : आपदा या अवसर *
* वेदना का अभिलेखन : आपदा या अवसर *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
23/18.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/18.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
विश्व पर्यटन दिवस
विश्व पर्यटन दिवस
Neeraj Agarwal
!! मुरली की चाह‌ !!
!! मुरली की चाह‌ !!
Chunnu Lal Gupta
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ८)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ८)
Kanchan Khanna
*****खुद का परिचय *****
*****खुद का परिचय *****
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
प्रेरणा
प्रेरणा
पूर्वार्थ
स्वतंत्रता दिवस
स्वतंत्रता दिवस
Dr Archana Gupta
🍁अंहकार🍁
🍁अंहकार🍁
Dr. Vaishali Verma
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
फ़र्क़ यह नहीं पड़ता
Anand Kumar
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
खवाब है तेरे तु उनको सजालें
Swami Ganganiya
#दोहा-
#दोहा-
*प्रणय प्रभात*
"नहीं तैरने आता था तो"
Dr. Kishan tandon kranti
वो तो नाराजगी से डरते हैं।
वो तो नाराजगी से डरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
कब मेरे मालिक आएंगे!
कब मेरे मालिक आएंगे!
Kuldeep mishra (KD)
Loading...