Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2023 · 1 min read

एक मां ने परिवार बनाया

एक मां ने परिवार बनाया
एक मां ने परिवार बसाया
एक मां ने घर बनाया
एक मां ने घर छुड़वाया
बस मां मां का फर्क यहां है
बाकी सबने
अपना अपना फर्ज निभाया ।

2 Likes · 2 Comments · 280 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोस्ती ना कभी बदली है ..न बदलेगी ...बस यहाँ तो लोग ही बदल जा
दोस्ती ना कभी बदली है ..न बदलेगी ...बस यहाँ तो लोग ही बदल जा
DrLakshman Jha Parimal
डा. तुलसीराम और उनकी आत्मकथाओं को जैसा मैंने समझा / © डा. मुसाफ़िर बैठा
डा. तुलसीराम और उनकी आत्मकथाओं को जैसा मैंने समझा / © डा. मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
हमारी वफा
हमारी वफा
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
दिल ने गुस्ताखियाॅ॑ बहुत की हैं जाने-अंजाने
दिल ने गुस्ताखियाॅ॑ बहुत की हैं जाने-अंजाने
VINOD CHAUHAN
घूंटती नारी काल पर भारी ?
घूंटती नारी काल पर भारी ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हाथी के दांत
हाथी के दांत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
जगदीश लववंशी
भरत मिलाप
भरत मिलाप
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
जिंदगी
जिंदगी
अखिलेश 'अखिल'
3058.*पूर्णिका*
3058.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुभाष चन्द्र बोस
सुभाष चन्द्र बोस
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
अब हक़ीक़त
अब हक़ीक़त
Dr fauzia Naseem shad
गांधीजी की नीतियों के विरोधी थे ‘ सुभाष ’
गांधीजी की नीतियों के विरोधी थे ‘ सुभाष ’
कवि रमेशराज
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
नौजवान सुभाष
नौजवान सुभाष
Aman Kumar Holy
मेरी तो धड़कनें भी
मेरी तो धड़कनें भी
हिमांशु Kulshrestha
Love night
Love night
Bidyadhar Mantry
Dictatorship in guise of Democracy ?
Dictatorship in guise of Democracy ?
Shyam Sundar Subramanian
*सपनों का बादल*
*सपनों का बादल*
Poonam Matia
मुक्तक
मुक्तक
गुमनाम 'बाबा'
दूसरों को देते हैं ज्ञान
दूसरों को देते हैं ज्ञान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बिना आमन्त्रण के
बिना आमन्त्रण के
gurudeenverma198
"The Power of Orange"
Manisha Manjari
We can rock together!!
We can rock together!!
Rachana
लिया समय ने करवट
लिया समय ने करवट
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जिदंगी हर कदम एक नयी जंग है,
जिदंगी हर कदम एक नयी जंग है,
Sunil Maheshwari
महिमा है सतनाम की
महिमा है सतनाम की
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
■ भूमिका (08 नवम्बर की)
■ भूमिका (08 नवम्बर की)
*प्रणय प्रभात*
बिना कोई परिश्रम के, न किस्मत रंग लाती है।
बिना कोई परिश्रम के, न किस्मत रंग लाती है।
सत्य कुमार प्रेमी
पायल
पायल
Kumud Srivastava
Loading...