Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Oct 2023 · 1 min read

एक छोटी सी रचना आपसी जेष्ठ श्रेष्ठ बंधुओं के सम्मुख

एक छोटी सी रचना आपसी जेष्ठ श्रेष्ठ बंधुओं के सम्मुख
घटा सुहानी सी छाई है तुम चले आओ।
प्यार की शम्मा जलाई है तुम चले आओ।।

प्यास धरती की मिटा कर चली गई बारिश।
न इतना देर लगाओ कि तुम चले आओ।।

उदासियो में, अंधेरों में, कट रहा ये सफर।
आश के दीप जलाने को तुम चले आओ।।

सितम कब तक सहे आखिर तेरी जुदाई का।
बंदिशे तोड जमाने कि तुम चले आओ।

स्वरचित
निकुम्भ के कलम से…….

319 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
!..................!
!..................!
शेखर सिंह
23/19.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/19.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जन्नत का हरेक रास्ता, तेरा ही पता है
जन्नत का हरेक रास्ता, तेरा ही पता है
Dr. Rashmi Jha
आदिपुरुष फ़िल्म
आदिपुरुष फ़िल्म
Dr Archana Gupta
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
*आत्मा की वास्तविक स्थिति*
Shashi kala vyas
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
कुछ मन्नतें पूरी होने तक वफ़ादार रहना ऐ ज़िन्दगी.
पूर्वार्थ
दादी की कहानी (कविता)
दादी की कहानी (कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
मंगलमय कर दो प्रभो ,जटिल जगत की राह (कुंडलिया)
Ravi Prakash
जिंदगी का सवेरा
जिंदगी का सवेरा
Dr. Man Mohan Krishna
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
Shweta Soni
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
कैमरे से चेहरे का छवि (image) बनाने मे,
Lakhan Yadav
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
अरशद रसूल बदायूंनी
कविका मान
कविका मान
Dr. Sunita Singh
कृष्ण सुदामा मित्रता,
कृष्ण सुदामा मित्रता,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
चौथ का चांद
चौथ का चांद
Dr. Seema Varma
बारिश का मौसम
बारिश का मौसम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सत्य कुमार प्रेमी
खेत खलिहनवा पसिनवा चुवाइ के सगिरिउ सिन्वर् लाहराइ ला हो भैया
खेत खलिहनवा पसिनवा चुवाइ के सगिरिउ सिन्वर् लाहराइ ला हो भैया
Rituraj shivem verma
💐प्रेम कौतुक-475💐
💐प्रेम कौतुक-475💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
गीत - प्रेम असिंचित जीवन के
Shivkumar Bilagrami
जिस दिन कविता से लोगों के,
जिस दिन कविता से लोगों के,
जगदीश शर्मा सहज
वास्तविक मौज
वास्तविक मौज
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
🥀* अज्ञानी की कलम*🥀
🥀* अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जिसके ना बोलने पर और थोड़ा सा नाराज़ होने पर तुम्हारी आँख से
जिसके ना बोलने पर और थोड़ा सा नाराज़ होने पर तुम्हारी आँख से
Vishal babu (vishu)
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
ऐ वसुत्व अर्ज किया है....
प्रेमदास वसु सुरेखा
इसलिए कठिनाईयों का खल मुझे न छल रहा।
इसलिए कठिनाईयों का खल मुझे न छल रहा।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"पता नहीं"
Dr. Kishan tandon kranti
सेर
सेर
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
तेरी कमी......
तेरी कमी......
Abhinay Krishna Prajapati-.-(kavyash)
सहधर्मिणी
सहधर्मिणी
Bodhisatva kastooriya
Loading...