Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2023 · 1 min read

उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |

उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |

जीत उसी ने पाई है , जो संघर्षों से लड़ा है |

सामने सूरज हो भले वह अकेला खड़ा है …|

खुद पर भरोसा उसे जुगनू सा वो अडा है …|

लाखो संघर्ष चाहे, मार्ग में भले उनके………,

उसकी जिद के आगे उसका हौसला बढ़ा है |

अनन्त हार से भी मुकम्मल खड़ा है |

जीत का जज्बा , आसमान से बड़ा है |

कवि दीपक सरल

1 Like · 296 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कविता : याद
कविता : याद
Rajesh Kumar Arjun
सोदा जब गुरू करते है तब बडे विध्वंस होते है
सोदा जब गुरू करते है तब बडे विध्वंस होते है
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
“नये वर्ष का अभिनंदन”
“नये वर्ष का अभिनंदन”
DrLakshman Jha Parimal
आज़ादी की जंग में यूं कूदा पंजाब
आज़ादी की जंग में यूं कूदा पंजाब
कवि रमेशराज
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
एक दिन मजदूरी को, देते हो खैरात।
Manoj Mahato
3484.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3484.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
आलोचना - अधिकार या कर्तव्य ? - शिवकुमार बिलगरामी
आलोचना - अधिकार या कर्तव्य ? - शिवकुमार बिलगरामी
Shivkumar Bilagrami
*भरोसा तुम ही पर मालिक, तुम्हारे ही सहारे हों (मुक्तक)*
*भरोसा तुम ही पर मालिक, तुम्हारे ही सहारे हों (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मेरे ख्याल से जीवन से ऊब जाना भी अच्छी बात है,
मेरे ख्याल से जीवन से ऊब जाना भी अच्छी बात है,
पूर्वार्थ
"" *मौन अधर* ""
सुनीलानंद महंत
ओ मां के जाये वीर मेरे...
ओ मां के जाये वीर मेरे...
Sunil Suman
"जीवन"
Dr. Kishan tandon kranti
दीप में कोई ज्योति रखना
दीप में कोई ज्योति रखना
Shweta Soni
मेरी बेटी है, मेरा वारिस।
मेरी बेटी है, मेरा वारिस।
लक्ष्मी सिंह
शोषण
शोषण
साहिल
सांत्वना
सांत्वना
भरत कुमार सोलंकी
शिशुपाल वध
शिशुपाल वध
SHAILESH MOHAN
चार बजे
चार बजे
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
सृजन तेरी कवितायें
सृजन तेरी कवितायें
Satish Srijan
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
क्षणिकाएं
क्षणिकाएं
Suryakant Dwivedi
" प्यार के रंग" (मुक्तक छंद काव्य)
Pushpraj Anant
"जब मानव कवि बन जाता हैं "
Slok maurya "umang"
नवयुग का भारत
नवयुग का भारत
AMRESH KUMAR VERMA
खूब रोता मन
खूब रोता मन
Dr. Sunita Singh
Safeguarding Against Cyber Threats: Vital Cybersecurity Measures for Preventing Data Theft and Contemplated Fraud
Safeguarding Against Cyber Threats: Vital Cybersecurity Measures for Preventing Data Theft and Contemplated Fraud
Shyam Sundar Subramanian
#कौन_देगा_जवाब??
#कौन_देगा_जवाब??
*प्रणय प्रभात*
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
अन-मने सूखे झाड़ से दिन.
sushil yadav
सत्य यह भी
सत्य यह भी
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
कभी अंधेरे में हम साया बना हो,
कभी अंधेरे में हम साया बना हो,
goutam shaw
Loading...