Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Feb 2024 · 1 min read

आपकी मुस्कुराहट बताती है फितरत आपकी।

इक सीने में आस लिया था।
कोई है आया।
जब उसने टॉप किया था।
मेडल पहनाया।
इस जमाने पर रहा न भरोसा हमें।
जिसे पानी पिलाया था।
उसी ने जलाया हमें।
नाम का असर पड़ता है।
हमने यह भी सुना था।
जिसका नाम था लक्ष्मी।
उसी ने कंगाल बनाया हमें।
नाम था जिसका प्रेमलता ।
उसी ने नफरत फैलाया कौम में।
जाना हैं तो चले जाओ।
कोई जोर न जबरदस्ती है।
ये जिंदगी चार दिनों की हस्ती है।
कोई आता है कोई जाता है।
यह तो जिंदगी में लगी रहती है।
सोचो जरा उस गुरु के बारे में।
जो समझते थे उसे छात्र होनहार में।
क्या डूब गए वो खुद के गुरुर अहंकार में।
लगता है वो हमसे इतराने लगे है।
जो कल तक मुस्कुराते थे नजरे मिलाकर।
वो अब तो नजर चुराने लगे है।
वो क्या थे और क्या खुद को दिखाने लगे है।
अब तो वो हमारे ही गली से दूर जाने लगे है।
किसी से हो जाता है लगाव।
जब वो छोड़कर जाता है ।
तो लगती है हृदय पर इक घाव।
बदलने लगे है अब तो उनके हाव भाव।
कहें आनंद इस जिंदगी ने रुलाया है बहुत।
क्योंकि इस जिंदगी का नाम ही है कभी धूप और छांव।

79 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
“ आप अच्छे तो जग अच्छा ”
“ आप अच्छे तो जग अच्छा ”
DrLakshman Jha Parimal
*अशोक कुमार अग्रवाल : स्वच्छता अभियान जिनका मिशन बन गया*
*अशोक कुमार अग्रवाल : स्वच्छता अभियान जिनका मिशन बन गया*
Ravi Prakash
क्रांति की बात ही ना करो
क्रांति की बात ही ना करो
Rohit yadav
मैं बहुतों की उम्मीद हूँ
मैं बहुतों की उम्मीद हूँ
ruby kumari
स्वार्थी आदमी
स्वार्थी आदमी
अनिल "आदर्श"
मन की इच्छा मन पहचाने
मन की इच्छा मन पहचाने
Suryakant Dwivedi
पोथी- पुस्तक
पोथी- पुस्तक
Dr Nisha nandini Bhartiya
तभी तो असाधारण ये कहानी होगी...!!!!!
तभी तो असाधारण ये कहानी होगी...!!!!!
Jyoti Khari
हम तो कवि है
हम तो कवि है
नन्दलाल सुथार "राही"
अच्छा लगता है
अच्छा लगता है
Harish Chandra Pande
"तिकड़मी दौर"
Dr. Kishan tandon kranti
मोर छत्तीसगढ़ महतारी
मोर छत्तीसगढ़ महतारी
Mukesh Kumar Sonkar
Avinash
Avinash
Vipin Singh
आतंकवाद
आतंकवाद
नेताम आर सी
रिश्ते की नियत
रिश्ते की नियत
पूर्वार्थ
लड़का पति बनने के लिए दहेज मांगता है चलो ठीक है
लड़का पति बनने के लिए दहेज मांगता है चलो ठीक है
शेखर सिंह
बाल कविता: मछली
बाल कविता: मछली
Rajesh Kumar Arjun
मैं तन्हाई में, ऐसा करता हूँ
मैं तन्हाई में, ऐसा करता हूँ
gurudeenverma198
शराब
शराब
RAKESH RAKESH
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
Mahender Singh
गुरुवर तोरे‌ चरणों में,
गुरुवर तोरे‌ चरणों में,
Kanchan Khanna
समान आचार संहिता
समान आचार संहिता
Bodhisatva kastooriya
है कौन वहां शिखर पर
है कौन वहां शिखर पर
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"अनकही सी ख़्वाहिशों की क्या बिसात?
*Author प्रणय प्रभात*
2360.पूर्णिका
2360.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शरद
शरद
Tarkeshwari 'sudhi'
काश - दीपक नील पदम्
काश - दीपक नील पदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तन पर हल्की  सी धुल लग जाए,
तन पर हल्की सी धुल लग जाए,
Shutisha Rajput
ये जो नफरतों का बीज बो रहे हो
ये जो नफरतों का बीज बो रहे हो
Gouri tiwari
आँगन की दीवारों से ( समीक्षा )
आँगन की दीवारों से ( समीक्षा )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...